"लेसर किरण" के अवतरणों में अंतर

10 बैट्स् जोड़े गए ,  6 वर्ष पहले
छो
बॉट: दिनांक लिप्यंतरण और अल्पविराम का अनावश्यक प्रयोग हटाया।
छो (बॉट: विराम चिह्नों के बाद खाली स्थान का प्रयोग किया।)
छो (बॉट: दिनांक लिप्यंतरण और अल्पविराम का अनावश्यक प्रयोग हटाया।)
1958 में, प्रोखोरोव ने स्वतंत्र रूप से एक खुले गुंजयमान यंत्र के उपयोग का प्रस्ताव रखा, जो उनका पहला प्रकाशित विचार था I स्चाव्लो और टाउन्‍स ने भी एक खुले गुंजयमान यंत्र की रुपरेखा तैयार की, वे प्रोखोरोव और गोल्ड के प्रकाशित काम से अंजान थे I
 
"लेजर" शब्‍द को पहली बार सार्वजनिक रूप से गोउल्‍ड के 1959 के सम्‍मेलन पत्र "द लेजर, लाइट एम्‍प्‍लिफिकेशन बाई स्‍टिम्‍युलेटेड एमिशन ऑफ रेडिएशन" में इस्‍तेमाल किया गया।<ref name="Gould1959">{{cite book |last=Gould |first= R. Gordon |authorlink=Gordon Gould |year=1959 |chapter=The LASER, Light Amplification by Stimulated Emission of Radiation |editor= Franken, P.A. and Sands, R.H. (Eds.) | title = The Ann Arbor Conference on Optical Pumping, the University of Michigan, 15 Juneजून through 18 Juneजून 1959 |pages=128 |oclc=02460155}}</ref><ref>{{cite book |last=Chu |first=Steven |authorlink=Steven Chu |coauthors=[[Charles Hard Townes|Townes, Charles]] |editor=Edward P. Lazear (ed.), |title=Biographical Memoirs |year=2003 |others=vol. 83 |publisher=National Academy of Sciences |isbn=0-309-08699-X |pages=202 |chapter=Arthur Schawlow }}</ref>गोउल्‍ड का इरादा "-एसर" प्रत्यय के लिए, किसी ऐसे उपसर्ग का इस्तमाल करने का था जो इस यन्त्र द्वारा उत्सर्जित प्रकाश के वर्णक्रम के लिए उपयुक्त हो (एक्स रे: ''क्सासेर'', पराबैंगनी: ''उवासेर'', आदि) I कोई अन्य शब्द लोकप्रिय नहीं हो पाया, हालांकि "रेजर"शब्द कुछ समय के लिए रेडियो आवृत्ति उत्‍सर्जन उपकरण के रूप में जाना गया I
 
गोउल्‍ड ने अपने नोट में, लेजर के लिए एक उपकरण जैसे [[:en:Spectroscopy|स्पेक्ट्रोमेट्री]], [[:en:interferometry|इंटरफेरोमेटरी]], [[:en:radar|रडार]] और [[नाभिकीय संलयन]] शामिल किया था उसने अपने विचार पर काम जारी रखा और अप्रैल 1959 में एक [[:en:patent application|पेटेंट आवेदन]] दायर किया I[[:en::United States Patent and Trademark Office|अमेरिकी पेटेंट कार्यालय]] ने उनके आवेदन को अस्वीकार कर दिया और यह पेटेंट [[:en:बेल की प्रयोगशालाएं |बेल लेबोरेटरी]] ([[:en:Bell Labs|Bell Labs]]) को 1960 में दे दिया इससे कानूनी लड़ाई छिड़ गई जो 28 साल तक चली और इसमें वैज्ञानिक प्रतिष्ठा और अधिक पैसे दांव पर लगे Iगोउल्‍ड ने 1977 में अपना पहला लघु पेटेंट जीता, लेकिन 1987 तक वे अपने पहले पेटेंट की जीत का दावा तब तक नहीं कर सके जब तक कि उन्‍हें एक फेडरल जज ने ऑप्टिकली पंप लेजर और [[:en:gas discharge|गैस की निरावेसित]] लेजर के लिए पेटेंट जारी करने के लिए सरकार के आदेश दिए.