"वृद्धि हार्मोन" के अवतरणों में अंतर

23 बैट्स् जोड़े गए ,  5 वर्ष पहले
छो
बॉट: दिनांक लिप्यंतरण और अल्पविराम का अनावश्यक प्रयोग हटाया।
छो (बॉट: विराम चिह्नों के बाद खाली स्थान का प्रयोग किया।)
छो (बॉट: दिनांक लिप्यंतरण और अल्पविराम का अनावश्यक प्रयोग हटाया।)
यह ज्ञात है कि अंतर्जनित और प्रोत्साहक प्रक्रियाओं के अतिरिक्त, अनेक विदेशी यौगिकों (जीनोबायोटिक जैसे औषधियां और अंतःस्रावी विचलक) द्वारा जीएच के स्राव और कार्यप्रणाली पर प्रभाव डाला जाता है।<ref name="pmid16702112">{{cite journal | author = Scarth JP | title = Modulation of the growth hormone-insulin-like growth factor (GH-IGF) axis by pharmaceutical, nutraceutical and environmental xenobiotics: an emerging role for xenobiotic-metabolizing enzymes and the transcription factors regulating their expression. A review | journal = Xenobiotica | volume = 36 | issue = 2-3 | pages = 119–218 | year = 2006 | pmid = 16702112 | doi = 10.1080/00498250600621627 | url = }}</ref>
 
एचजीएच (HGH) का संश्लेषण और स्राव सारे दिन अग्र पीयूष ग्रंथि द्वारा ठहर-ठहर कर से होता रहता है; 3- से 5-घंटों के अंतरालों पर स्राव में वृद्धि होती है।<ref name="ped"/> इन शिखरों के समय जीएच की प्लाज्मा में मौजूद मात्राएं 5 से 45 एनजी/एमएल तक भी हो सकती हैं।<ref name="pmid808970">{{cite journal | author = Natelson BH, Holaday J, Meyerhoff J, Stokes PE | title = Temporal changes in growth hormone, cortisol, and glucose: relation to light onset and behavior | journal = Am. J. Physiol. | volume = 229 | issue = 2 | pages = 409–15 | year = 1975 | month = August | pmid = 808970 | doi = | url = http://ajplegacy.physiology.org/cgi/content/abstract/229/2/409 | issn = }}</ref> इस तरह के सबसे बड़े और सबसे अधिक पूर्वअनुमानित जीएच (GH) शिखर निद्रा के प्रारंभ के बाद लगभग एक घंटे में होते हैं।<ref name="Takahashi">{{cite journal |author=Takahashi Y, Kipnis D, Daughaday W |title=Growth hormone secretion during sleep |journal=J Clin Invest |volume=47 |issue=9 |pages=2079–90 |year=1968 |pmid=5675428 |doi=10.1172/JCI105893 |pmc=297368}}</ref> अन्यथा दिनों और व्यक्तियों के बीच बड़ी भिन्नताएं होती हैं। एचजीएच स्राव का करीब 50 प्रतिशत तीसरे और चौथे आरईएम निद्रा पड़ावों पर होता है।<ref>मेहता, अमीता और हिंद्मर्ष, पीटर. 2002. छोटे कद के बच्चों में सोमाट्रोपिन (somatropin) (रिकॉम्बिनेंट ग्रोथ हॉर्मोन) का उपयोग. ''पीडीऐट्रिक ड्रग्स.'' 4: 37-47.</ref> शिखरों के बीच, दिन और रात के अधिकांश समय में मूल जीएच (GH) स्तर कम रहते हैं, सामान्यतः 5 एनजी/एमएल से कम.<ref name="Takahashi"/> जीएच की पल्सेटाइल प्रोफाइल के अतिरिक्त विश्लेषण के अनुसार सभी मामलों में मूल स्तर पर शिखर 1 एनजी/ एमएल से कम जबकि अधिकतम शिखर 10-20 एनजी/एमएल के आसपास स्थित होते हैं।<ref name="pmid11408427">{{cite journal | author = Nindl BC, Hymer WC, Deaver DR, Kraemer WJ | title = Growth hormone pulsatility profile characteristics following acute heavy resistance exercise | journal = J. Appl. Physiol. | volume = 91 | issue = 1 | pages = 163–72 | date=1 Julyजुलाई 2001| pmid = 11408427 | url = http://jap.physiology.org/cgi/content/abstract/91/1/163 | issn = }}</ref><ref name="pmid8719443">{{cite journal | author = Juul A, Jørgensen JO, Christiansen JS, Müller J, Skakkeboek NE | title = Metabolic effects of GH: a rationale for continued GH treatment of GH-deficient adults after cessation of linear growth | journal = Horm. Res. | volume = 44 Suppl 3 | issue = | pages = 64–72 | year = 1995 | pmid = 8719443 | url = | issn = | doi = 10.1159/000184676 }}</ref>
 
एचजीएच का स्राव कई कारकों द्वारा प्रभावित होता है, जैसे, आयु, लिंग, आहार, व्यायाम, मानसिक दबाव और अन्य हार्मोन.<ref name="ped"/> युवा किशोरों में एचजीएच (HGH) का स्राव लगभग 700 माइक्रोग्राम प्रतिदिन की दर से होता है, जबकि स्वस्थ वयस्कों में यह दर करीब 400 माइक्रोग्राम प्रतिदिन होती है।<ref name="isbn0-07-144011-9">{{cite book | author = Gardner, David G., Shoback, Dolores | title = Greenspan's Basic and Clinical Endocrinology | edition = 8th |series= | year = 2007 | publisher= McGraw-Hill Medical | location = New York | isbn = 0-07-144011-9 |oclc= | pages = 193–201 | chapter = | chapterurl = | quote = }}</ref>
| title = Anti-Aging Potion or Poison?
| publisher = New York Times
| date = 12 April,अप्रैल 1998
| url = http://www.nytimes.com/1998/04/12/style/anti-aging-potion-or-poison.html}}</ref>