"सुजाता मनोहर" के अवतरणों में अंतर

6 बैट्स् जोड़े गए ,  5 वर्ष पहले
छो
बॉट: दिनांक लिप्यंतरण और अल्पविराम का अनावश्यक प्रयोग हटाया।
छो (बॉट: विराम चिह्नों के बाद खाली स्थान का प्रयोग किया।)
छो (बॉट: दिनांक लिप्यंतरण और अल्पविराम का अनावश्यक प्रयोग हटाया।)
'''न्यायमूर्ति सुजाता वसंत मनोहर''' (जन्म: 28 अगस्त 1934) [[भारत का उच्चतम न्यायालय|सुप्रीम कोर्ट]] की [[न्यायाधीश]] और [[राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (भारत)]] की सदस्य रह चुकी है।
 
28 अगस्त 1934 में जन्मी सुजाता मनोहर एक मजबूत कानूनी पृष्ठभूमि वाले परिवार में पैदा हुईं। उनके पिता [[गुजरात उच्च न्यायालय]] के मुख्य न्यायाधीश रह चुके हैं। उनकी प्रारंभिक शिक्षा [[मुंबई]] में हुई। तत्पश्चात एल्फिंस्टन कॉलेज, [[मुंबई]] से [[स्नातक]] करने के बाद लेडी मार्गरेट हॉल, [[ऑक्सफोर्ड]], [[ब्रिटेन]] चली गईं जहां उन्होने दर्शन शास्त्र, राजनीति शस्त्र और अर्थशास्त्र की पढ़ाई की। 14 फ़रवरी 1958 को उन्होने अधिवक्ता की पढ़ाई हेतु दाखिला लिया। 1970-71 के दौरान उन्हें सहायक सरकारी अधिवक्ता, सिटी सिविल कोर्ट, बॉम्बे में नियुक्त किया गया। 23 जनवरी 1978 से वे [[मुंबई उच्च न्यायालय]] का अतिरिक्त [[न्यायाधीश]] नियुक्त किया गया। 28 नवंबरनवम्बर 1978 को उन्हें स्थायी न्यायाधीश के रूप में नियुक्त किया गया। 15 जनवरी 1994 में वे [[मुंबई उच्च न्यायालय]] की मुख्य न्यायाधीश बनीं। 21 अप्रैल 1994 में उन्हें [[केरल उच्च न्यायालय]] के मुख्य न्यायाधीश के रूप में स्थानांतरित किया गया। 8 नवंबरनवम्बर 1994 को वे [[भारत का उच्चतम न्यायालय|सुप्रीम कोर्ट]] की [[न्यायाधीश]] बनीं और 27 अगस्त 1999 को इस पद से सेवानिवृत हुई।<ref>{{cite web |url=http://users.ox.ac.uk/~ouclj/patrons.html |title=Oxford University Commonwealth Law Journal - Board of Patrons |accessdate=2013-11-27}}</ref><ref>[http://www.itatonline.org/articles_new/?p=8 ''Principles of Natural Justice'', Justice Smt. Sujata V. Manohar, Supreme Court of India (Retd.)]</ref>
== सन्दर्भ ==
{{टिप्पणीसूची}}