"नरेन्द्र मोदी" के अवतरणों में अंतर

सम्पादन सारांश रहित
(→‎भारत के प्रधानमन्त्री: उप शीर्षक को शीर्षक में बदल दिया)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
जिस तरह से नरेन्द्र मोदी ने 2 अक्टूबर को गान्धी एवं 14 नवम्बर को नेहरू जयन्ती उत्सव मनाकर सरकार के खर्चे पर वाहवाही लूटने की शुरुआत की उस पर काँग्रेस की कड़ी प्रतिक्रिया यह आयी कि मोदी के पास अपने कोई महापुरुष ही नहीं हैं इसलिए वे गान्धी नेहरू के सहारे अपनी सरकार को पूरे 5 साल तक चलाने की जुगलबंदी कर रहे हैं।
लेकिन इसके विपरीत मीडिया में यह प्रतिवाद भी हुआ कि नरेन्द्र मोदी ने गान्धी नेहरू की विरासत को केवल एक परिवार तक सीमित न रखकर पूरे देश के साथ जोड़ा परन्तु काँग्रेस ने तो उन्हें दूर रखने में ही अपनी भलाई समझी।<ref >[http://khabar.ndtv.com/news/blogs/richa-jain-kalra-writes-nehru-invitation-and-narendra-modi-695035?update=1416551127 ॠचा जैन कालरा की कलम से: नेहरू, न्योता और नरेन्द्र मोदी]</ref >
 
== भाषण कला ==
नरेंदर मोदी को सभी राजनेता एक बेहतरीन वक्ता मान रहे हैं। वे गुजराती, हिंदी और अंग्रेजी में धारा प्रवाह भाषण देते हैं। साथ ही भारत के दूसरे राज्यों में जाते हैं तो शुरू वहां की मातृभाषा में करते हैं, जो उनको आसानी से लोगो से जोड़ देती हैं। <br/>
साथ ही इन्होने कई ऐसे जुमले भी प्रयोग किये हैं जो की अखबारों की हैडलाइन बन जाते हैं। साथ ही इन्होने कई Keyword भी प्रदान किये हैं जैसे की -5T, 3S, I-way and HighWay, Hi-fi and wifi aur safai
हम इनकी भाषण कला के विस्तृत विवरण इस पेज पर देख सकते हैं। [[नरेन्द्र मोदी भाषण कला]]
 
 
== सन्दर्भ ==
110

सम्पादन