"क्षेमेंद्र" के अवतरणों में अंतर

12 बैट्स् जोड़े गए ,  6 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश रहित
'''क्षेमेन्द्र''' [[संस्कृत]] के प्रतिभासंपन्न काश्मीरी महाकवि थे। ये विद्वान ब्राह्मणकुल में उत्पन्न हुए थे। ये सिंधु के प्रपौत्र, निम्नाशय के पौत्र और प्रकाशेंद्र के पुत्र थे। इन्होंने प्रसिद्ध आलोचक तथा तंत्रशास्त्र के मर्मज्ञ विद्वान् अभिनवगुप्त[[अभिनवगुप]]त से [[साहित्यशास्त्र]] का अध्ययन किया था। इनके पुत्र सोमेंद्र[[सोमेन्द्र]] ने पिता की रचना '''बोधिसत्त्वावदानकल्पलता''' को एक नया पल्लव (कथा) जोड़कर पूरा किया था।
 
== काल ==