"उपधातु": अवतरणों में अंतर

332 बाइट्स जोड़े गए ,  7 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश नहीं है
छो (Robot: Removing sv:Metalloid (strong connection between (2) hi:उपधातु and sv:Halvmetall))
No edit summary
वे तत्व जिनमें [[धातु]] तथा [[अधातु]] दोनों के गुण पाए जाते हैं उन्हें '''उपधातु''' (Metalloid) कहते हैं। [[आर्सेनिक|नैपालीबोरान]], [[अंजनसिलिकान]], [[भिदातुजर्मेनियम]], [[टांकणआर्सैनिक]], एण्टीमनी]] और [[सिकातुटेल्युरियम]] प्रमुख- ये छः प्रायः उपधातु कहे जाते हैं। [[कार्बन]], [[अल्मुनियम]], [[सेलेनियम]], [[पोलोनियम]] और एस्टेटीन (astatine) को भी कुछ सीमा तक उपधातु कहा जाता है।
 
== गुणधर्म ==
== ग़ुणधर्म ==
*(१) उपधातुएँ प्राय: [[एम्फोटेरिक]] जारेय (आक्साइड) बनाती हैं। एम्फोटेरिक पदार्थ उन्हें कहते हैं जो [[अम्ल]] और [[क्षार]] दोनो की ही तरह अभिक्रिया कर सकते हैं।
 
*(२) उपधातुएँ प्राय: [[अर्धचालकता]] का गुण प्रदर्शित करती हैं।
 
कभी-कभी उपधातु और [[अर्धचालक]] को एक ही समझने की गलती हो जाती है। यद्यपि दोनोदोनों में कुछ-कुछ समानता है किन्तु दोनोदोनों अलग-अलग हैं। उपधातुओं का कांसेप्ट [[आवर्त सारणी]] में एक विशेष स्थिति को प्रदर्शित करता है, जबकि अर्धचालकता [[तत्व|तत्वों]] के अलावा [[मिश्रधातु|मिश्रधातुओं]] में भी पायी जाती है।
 
{| align="center" cellpadding="3"