"रेडियो" के अवतरणों में अंतर

234 बैट्स् जोड़े गए ,  6 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश रहित
24 दिसम्बर 1906 की शाम कनाडाई [[वैज्ञानिक]] [[रेगिनाल्ड फेसेंडेन]] ने जब अपना वॉयलिन बजाया और [[अटलांटिक महासागर]] में तैर रहे तमाम [[जहाज|जहाजों]] के '''रेडियो''' ऑपरेटरों ने उस संगीत को अपने रेडियो सेट पर सुना, वह दुनिया में रेडियो प्रसारण की शुरुआत थी।
 
इससे पहले [[जगदीश चन्द्र बसु]] ने [[भारत]] में तथा [[गुल्येल्मो मार्कोनी]] ने सन 1900 में [[इंग्लैंड]] से [[अमरीका]] बेतार संदेश भेजकर व्यक्तिगत रेडियो संदेश भेजने की शुरुआत कर दी थी, पर एक से अधिक व्यक्तियों को एक साथ संदेश भेजने या ब्रॉडकास्टिंग की शुरुआत 1906 में फेसेंडेन के साथ हुई। ली द फोरेस्ट और चार्ल्स हेरॉल्ड जैसे लोगों ने इसके बाद रेडियो प्रसारण के प्रयोग करने शुरु किए। तब तक रेडियो का प्रयोग सिर्फ नौसेना तक ही सीमित था। 1917 में प्रथम विश्व युद्ध की शुरुआत के बाद किसी भी गैर फौज़ी के लिये रेडियो का प्रयोग निषिद्ध कर दिया गया।<ref>[http://www.bbc.co.uk/hindi/regionalnews/story/2006/12/061224_radio_history.shtml पूरे हुए रेडियो प्रसारण के सौ साल] बीबीसी हिन्दी पर शुभ्रांशु चौधरी का आलेख</ref>
 
== पहला रेडियो स्टेशन ==
* कुछ ही सालों में देखते ही देखते दुनिया भर में सैंकड़ों रेडियो स्टेशनों ने काम करना शुरु कर दिया।
* रेडियो में विज्ञापन की शुरुआत 1923 में हुई। इसके बाद ब्रिटेन में [[बीबीसी]] और अमरीका में [[सीबीएस]] और [[एनबीसी]] जैसे सरकारी रेडियो स्टेशनों की शुरुआत हुई।
* नवंबर 1941 को सुभाष चंद्र बोस ने रेडियो [[जर्मनी]] से भारतवासियों को संबोधित कियाकिया।
 
== भारत और रेडियो ==
 
* 1927 तक भारत में भी ढेरों रेडियो क्लबों की स्थापना हो चुकी थी। 1936 में भारत में सरकारी ‘इम्पेरियल रेडियो ऑफ इंडिया’ की शुरुआत हुई जो आज़ादी के बाद [[ऑल इंडिया रेडियो]] या [[आकाशवाणी]] बन गया।
* 1939 में [[द्वितीय विश्वयुद्ध]] की शुरुआत होने पर भारत में भी रेडियो के सारे लाइसेंस रद्द कर दिए गए और [[ट्रांसमीटर|ट्रांसमीटरों]] को [[सरकार]] के पास जमा करने के आदेश दे दिए गए।
 
== पहला प्रसारण ==
 
* अपने पहले प्रसारण में उद्घोषक [[उषा मेहता]] ने कहा, “41.78 मीटर पर एक अंजान जगह से यह नेशनल कांग्रेस रेडियो है।”
* रेडियो पर विज्ञापन की शुरुआत 1923 में हुई।
* इसके बाद 1942 में आज़ाद हिंद रेडियो की स्थापना हुई जो पहले [[जर्मनी]] से फिर [[सिंगापुर]] और [[रंगून]] से भारतीयों के लिये समाचार प्रसारित करता रहा।
 
== आज़ादीस्वतन्त्रता के बादपश्चात ==
* स्वतन्त्रता के पश्चात से 16 नवम्बर 2006 तक रेडियो केवल सरकार के अधिकार के था। धीरे-धीरे आम नागरिकों के पास रेडियो की पहुँच के साथ इसका विकास हुआ।
 
* आज़ादी के बाद अब तक भारत में रेडियो का इतिहास सरकारी ही रहा है।
* आज़ादी के बाद भारत में रेडियो सरकारी नियंत्रण में रहा।
* सरकारी संरक्षण में रेडियो का काफी प्रसार हुआ। 1947 में आकाशवाणी के पास छह रेडियो स्टेशन थे और उसकी पहुंच 11 प्रतिशत लोगों तक ही थी। आज आकाशवाणी के पास 223 रेडियो स्टेशन हैं और उसकी पहुंच 99.1 फ़ीसदी भारतीयों तक है।
* टेलीविज़न के आगमन के बाद शहरों में रेडियो के श्रोता कम होते गए, पर एफएम रेडियो के आगमन के बाद अब शहरों में भी रेडियो के श्रोता बढ़ने लगे हैं। पर गैरसरकारी रेडियो में अब भी समाचार या समसामयिक विषयों की चर्चा पर पाबंदी है।
* रेडियो का दुरुपयोग न हो इसलिए सरकार इसे चलाने की अनुमति आम जनता को नहीं देना चाहती थी। इस बीच आम जनता को रेडियो स्टेशन चलाने देने की अनुमति के लिए सरकार पर दबाव बढ़ता रहा है।
* 1995 में भारतीय सर्वोच्च न्यायालय ने कहा कि रेडियो तरंगों पर सरकार का एकाधिकार नहीं है। सनवर्ष 2002 में एनडीए सरकार ने शिक्षण संस्थाओं को कैंपस रेडियो स्टेशन खोलने की अनुमति दी। 16 नवम्बर 2006 को यूपीए सरकार ने स्वयंसेवी संस्थाओं को रेडियो स्टेशन खोलने की इज़ाज़त दी है।
* इन रेडियो स्टेशनों में भी समाचार या समसामयिक विषयों की चर्चा पर पाबंदी है, पर इसे रेडियो जैसे जन माध्यम के लोकतंत्रीकरण की दिशा में एक महत्वपूर्ण क़दम माना जा रहा है।
 
== इन्हें भी देखें==
*[[रेडियो तरंग]]
 
==सन्दर्भ==
== वाह्य कड़ियाँ ==
{{टिप्पणीसूची}}
* '''आलेख का स्रोत''' : [http://www.bbc.co.uk/hindi/regionalnews/story/2006/12/061224_radio_history.shtml पूरे हुए रेडियो प्रसारण के सौ साल] बीबीसी हिन्दी पर शुभ्रांशु चौधरी का आलेख
 
== वाह्य बाहरी कड़ियाँ ==
* [http://radio.kaulonline.com/ इंटरनेट पर हिन्दी रेडियो स्टेशनों की सूची]
* [http://radionamaa.blogspot.com/ रेडियोनामा] (हिन्दी चिट्ठा)
 
[[श्रेणी:रेडियो]]