"चीन की साम्यवादी क्रांति" के अवतरणों में अंतर

आकार में कोई परिवर्तन नहीं ,  5 वर्ष पहले
छो (अनुनाद सिंह ने चीन का साम्यवादी क्रांति पृष्ठ चीन की साम्यवादी क्रांति पर स्थानांतरित किया:...)
* भारत सहित चीन के आसपास के देशों में माओवादी चिंतन को प्रोत्साहन मिला। समस्याओं के निराकरण हेतु बहुत सारे हिंसक माओवादी स्वरूप सामने आए।
 
* माओवादी चीन ने दुनियाभर में प्रवासी चीनियों को इस बात के लिए ललकारा कि वे अपनी जन्मभूमि, पैतृक भूमि के प्रति पे्रम और निष्ठा को प्रमाणित कर अपने स्वाभिमान को राष्ट्रीय गौरव के साथ जोड़ना आरंभ करे। [[इण्डोनेशिया]], [[मलेशिया]], [[सिंगापुर]] जैसे देशों की आबादी का एक बड़ा हिस्सा चीनी मूल के लोगों का है। वर्षों तक इण्डोनेशिया की साम्यवादी पार्टी पेकिंग के निर्देशानुसार ही काम करती रही। [[वियतमानवियतनाम]] का राष्ट्रीय मुक्ति संग्राम माओवादी नमूने का (छापामार वाला) ही रहा।
 
* चीनी साम्यवादी क्रांति की सफलता से उत्साहित होकर साम्यवादियों ने [[तिब्बत]] में एक सफल सैनिक अभियान का संचालन किया। फलतः [[भारत]] के साथ उसके संबंधों में तनाव पैदा हुआ क्योंकि भारत ने तिब्बत की लामा सरकार को अपने यहाँ मानवीय मूल्यों के आधार पर शरण दे रखी है।