मुख्य मेनू खोलें

बदलाव

18 बैट्स् जोड़े गए ,  4 वर्ष पहले
छो
तारीख सही की।
 
{{Infobox terrorist attack
|title=९/११ का आतंकवादी हमला
|title=September 11 attacks
|image_size = 300px
|image=WTC smoking on 9-11.jpeg
|location=[[न्यूयॉर्क नगर]],[[पेंटागन]] [[वर्जीनिया]] और [[पेन्सिलवेनिया]] के पास।
|date= मंगलवार, ११ सितम्बर, २००१
|time-begin={{start-date|मंगलवार, ११11 सितम्बर, २००१2001 8:46 am|8:46 am}}
|time-end={{end-date|मंगलवार, ११11 सितम्बर, २००१2001 10:28 am|10:28 am}}
|timezone=[[यूटीसी]]-4
|type= [[वायुयान अपहरण]], [[नरसंहार]], [[आत्मघाती हमला]], [[आतंकवाद]]
}}
{{Campaignbox al-Qaeda attacks}}
'''11 सितंबर के हमले''' (अक्सर जिन्हें अक्सर '''सितम्बर 11''' या '''9/11''' कहा जाता है) 11 सितम्बर 2001 को [[संयुक्त राज्य अमेरिका]] पर [[अल कायदा|अल-क़ायदा]] द्वारा समन्वित [[फ़िदायीन हमला|आत्मघाती हमलों]] की एक श्रंखला थी।
उस दिन सबेरे, 19 अल कायदा [[आतंकवादी|आतंकवादियों]] ने चार वाणिज्यिक यात्री जेट वायुयानों का अपहरण कर लिया।<ref name="Holmes">{{cite book|last=होल्म्स|first=स्टीफन|title=Making sense of suicide missions|year=2006|publisher=ऑक्सफोर्ड विश्वविद्दालय प्रेस|isbn=0199297975|editor=डियेगो गमबेट्टा|chapter=Al Qaeda, September 11, 2001}}</ref><ref name="Keppel2008">{{cite book|last=Keppel|first=Gilles|title=Al Qaeda in its own words|year=2008|publisher=Harvard University Press|isbn=067402804X|coauthors=Milelli, Jean-Pierre and Ghazaleh, Pascale}}</ref> अपहरणकर्ताओं ने जानबूझकर उनमें से दो विमानों को वर्ल्ड ट्रेड सेंटर, [[न्यूयॉर्क नगर|न्यूयॉर्क शहर]] के ट्विन टावर्स के साथ टकरा दिया, जिससे विमानों पर सवार सभी लोग तथा भवनों के अंदर काम करने वाले अन्य अनेक लोग भी मारे गए। दोनों भवन दो घंटे के अंदर ढह गए, पास की इमारतें नष्ट हो गईं और अन्य क्षतिग्रस्त हुईं। अपहरणकर्ताओं ने तीसरे विमान को बस वाशिंगटन डी॰सी॰ के बाहर, आर्लिंगटन, वर्जीनिया में [[पेंटागन]] में टकरा दिया। अपहरणकर्ताओं द्वारा वाशिंगटन डी॰सी॰ की ओर पुनर्निर्देशित किए गए चौथे विमान के कुछ यात्रियों एवं उड़ान चालक दल द्वारा विमान का नियंत्रण फिर से लेने के प्रयास के बाद, विमान ग्रामीण पेंसिल्वेनिया में शैंक्सविले के पास एक खेत में जा टकराया। किसी भी उड़ान से कोई भी जीवित नहीं बचा।
 
3,300

सम्पादन