"क्यूबाई मिसाइल संकट" के अवतरणों में अंतर

छो
बॉट: अनुभाग शीर्षक एकरूपता।
छो (बॉट: अन्तर्विकि अच्छे लेख का साँचे हटाये, अब विकिडाटा पर उपलब्ध।)
छो (बॉट: अनुभाग शीर्षक एकरूपता।)
[[चित्र:Soviet-R-12-nuclear-ballistic missile.jpg|thumb|मॉस्को के रेड स्क्वायर में मध्यवर्ती दूरी की सोवियत आर-12 परमाणु बैलिस्टिक मिसाइल (नाटो द्वारा दिया गया नाम एसएस-4) की सीआईए (CIA) संदर्भसन्दर्भ तस्वीर.]] '''क्यूबाई मिसाइल संकट''' (क्यूबा में ''अक्टूबर संकट'' के रूप में जाना जाता है) [[शीतयुद्ध|शीत युद्ध]] के दौरान अक्टूबर 1962 में [[सोवियत संघ|सोवियत संघ,]] [[क्यूबा]] और [[संयुक्त राज्य अमेरिका]] के बीच एक टकराव था। सितंबर 1962 में, क्यूबा और सोवियत सरकारों ने चोरी-छिपे क्यूबा में महाद्वीपीय संयुक्त राज्य अमेरिका के अधिकांश भागों पर मार कर सकने की क्षमता वाली अनेक मध्यम- और मध्यवर्ती-दूरी की प्राक्षेपिक मिसाइलें (MRBMs और IRBMs) लगानी शुरू की. 1958 में यूके (UK) में थोर आईआरबीएम (IRBM) और 1961 में इटली और तुर्की में जुपिटर आईआरबीएम (IRBM)- मॉस्को पर नाभिकीय हथियारों से हमला करने की क्षमता वाली इन 100 से अधिक यू॰एस॰ (U.S.)-निर्मित मिसाइलों की तैनाती के प्रतिक्रियास्वरूप यह कारवाई की गयी। 14 अक्टूबर 1962 को, एक संयुक्त राज्य अमेरिकी यू-2 (U-2) फोटोआविक्षण विमान ने क्यूबा में निर्माणाधीन सोवियत मिसाइल ठिकानों के फोटोग्राफिक सबूत जमा किये.
 
फलस्वरूप बर्लिन नाकाबंदी से पैदा हुआ संकट शीत युद्ध के एक बड़े टकराव का रूप ले लिया और आम तौर पर माना जाने लगा कि शीत युद्ध अब एक नाभिकीय संघर्ष के कगार पर आ पहुंचा है।<ref>{{cite journal|first=B. Gregory |last=Marfleet|title=The Operational Code of John F. Kennedy During the Cuban Missile Crisis: A Comparison of Public and Private Rhetoric |journal=Political Psychology |volume=21|page=545|issue=3}}</ref> संयुक्त राज्य अमेरिका ने क्यूबा आकाश और समुद्र मार्ग से हमला करने पर विचार किया और क्यूबा का सैन्य संगरोधन करना तय किया। यू॰एस॰ (U.S.) ने घोषणा की कि वह क्यूबा में आक्रामक हथियारों को ले जाने नहीं देगा और मांग की कि सोवियत संघ क्यूबा में निर्माणाधीन या बन चुके मिसाइल ठिकानों को नष्ट करे और वहां से सभी आक्रामक हथियारों को हटा ले. कैनेडी प्रशासन को बहुत ही कम उम्मीद थी कि क्रेमलिन उनकी मांगों को मान लेगा और वह एक सैन्य टकराव की अपेक्षा कर रहा था। दूसरी ओर सोवियत संघ के निकिता ख्रुश्चेव ने केनेडी को एक पत्र में लिखा कि "अंतरराष्ट्रीय जल मार्ग और आकाश मार्ग के यातायात के" उनके संगरोधन की "कारवाई एक ऐसी आक्रामकता है जो मानव जाति को विश्व नाभिकीय-मिसाइल युद्ध के नरक कुंड में डाल देगी."
20 अक्टूबर सोमवार के दिन सुबह 9:00 ईडीटी (EDT) बजे मॉस्को रेडियो पर ख्रुश्चेव का नया संदेश प्रसारित किया गया। ख्रुश्चेव ने कहा कि, "सोवियत सरकार ने, हर्थियारों निर्माण स्थलों पर काम बंद करने के पहले के जारी निर्देश के अलावा, जिसे आप 'आक्रामक' बताते हैं, उन हथियारों को नष्ट करने और उन्हें पेटीबंद करके सोवियत संघ वापस लाने का एक नया आदेश भी जारी किया है।
 
कैनेडी ने तुरंत बयान जारी करते हुए इसे "शांति के लिए एक महत्वपूर्ण और रचनात्मक कदम" बताया. एक औपचारिक पत्र में उन्होंने आगे कहा: "सत्ताइस अक्टूबर को आपको लिखे गए मेरे पत्र और आज आपके जवाब को मैं हमारी दोनों सरकारों का दृढ़ उपक्रम मानता हूं, जिसे मुस्तैदी के साथ जारी रखा जाना चाहिए... क्यूबा के संदर्भसन्दर्भ में सुरक्षा परिषद के ढांचे के तहत यू॰एस॰ (U.S.) एक बयान देगा, जो इस तरह है: यह घोषणा की जाएगी कि संयुक्त राज्य अमेरिका क्यूबा की सीमाओं की अनुल्लंघनीयता, इसकी संप्रभुता का सम्मान करेगा, आंतरिक मामले में दखल नहीं देगा, अतिक्रमण नहीं करने और क्यूबा पर हमला करने के लिए एक मोर्चे के रूप में अपनी भूमि के इस्तेमाल करने की अनुमति नहीं देने की शपथ लेगा और यू.एस (U.S.) की जमीन पर से या क्यूबा के पड़ोसी देश की जमीन से क्यूबा पर आक्रमण करने की योजना बनाने वालों को रोकेगा."<ref name="Faria">{{cite web|last=Faria |first=Miguel |title=Cuba in Revolution—Escape from a Lost Paradise |year=2002 |publisher= Hacienda Publishing |location=Macon, Georgia | ISBN=0-9641077-3-2}}</ref>{{rp|103}}
 
यू॰एस॰ (U.S) ने संगरोध जारी रखा और अगले दिनों में, हवाई जांच ने साबित कर दिया कि सोवियत का मिसाइल प्रणालियों को दूर हटाने का काम प्रगति पर था। 42 मिसाइलों और उनके सहयोगी उपकरणों को आठ सोवियत जहाज पर लाद दिया गया था। 5-9 नवम्बर तक जहाजों ने क्यूबा छोड़ दिया. यू॰एस॰ (U.S.) ने अंतिम दृश्य जांच किया कि हरेक जहाज संगरोधी लाइन को पार चुका हैं या नहीं. सोवियत आईएल-28 बमवर्षकों को हटाने के लिए आगे और भी राजनयिक प्रयासों की जरूरत थी और 5 तथा 6 दिसम्बर को वे तीन सोवियत जहाजों में लाद दिए गए। संगरोध औपचारिक रूप से 20 नवम्बर 1962 को शाम 6:45 ईडीटी (EDT) बजे समाप्त हो गया।<ref name="global">{{cite web|url=http://www.globalsecurity.org/military/ops/cuba-62.htm|title=Cuban Missile Crisis|publisher=Global Security|accessdate=6 मई 2010}}</ref>
{{Reflist|group=notes }}
 
== संदर्भसन्दर्भ ==
{{Reflist|2}}