"ज्वर" के अवतरणों में अंतर

251 बैट्स् नीकाले गए ,  4 वर्ष पहले
छो
Reverted 1 edit by 106.219.26.220 (talk) identified as vandalism to last revision by Sanjeev bot. (TW)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
छो (Reverted 1 edit by 106.219.26.220 (talk) identified as vandalism to last revision by Sanjeev bot. (TW))
MeshID = D005334 |
}}
जब शरीर का ताप सामान्य से अधिक हो जाये तो उस दशा को '''ज्वर''' या '''बुख़ार''' (फीवर) कहते है। यह रोग नहीं बल्कि एक लक्षण (सिम्टम्) है जो बताता है कि शरीर का ताप नियंत्रित करने वाली प्रणाली ने शरीर का वांछित ताप (सेट-प्वाइंट) १-२ डिग्री सल्सियस बढा दिया है। मनुष्य के शरीर का सामान्‍य तापमान ३७°[[सेल्सियस]] या ९८.६° [[फैरेनहाइट]] होता है। जब शरीर का [[तापमान]] इस सामान्‍य स्‍तर से ऊपर हो जाता है तो यह स्थिति ज्‍वर या बुखार कहलाती है। ज्‍वर कोई रोग नहीं है। यह केवल रोग का एक लक्षण है। किसी भी प्रकार के संक्रमण की यह शरीर द्वारा दी गई प्रतिक्रिया है। बढ़ता हुआ ज्‍वर रोग की गंभीरता के स्‍तर की ओर संकेत करता है।अधिक जानकारी के लिए हमें फोन करें डॉ मुजाहिद शेख 08416869763 फोन करने से पहले नाम और समस्या लिखकर SMS करेंहै।
 
== कारण ==