"श्रेयांसनाथ": अवतरणों में अंतर

आकार में कोई परिवर्तन नहीं ,  6 वर्ष पहले
छो
सही
(सन्दर्भ)
छो (सही)
{{जैन धर्म}}
 
'''श्रेयांसनाथ''', [[जैन धर्म]] में वर्तमान अवसर्पिणी काल के ११वें [[तीर्थंकर]] है।थे। श्रेयांसनाथ जी के पिता का नाम विष्णु और माता का वेणुदेवी था। उनका जन्मस्थान सिंहपुर ([[सारनाथ]]) और निर्वाणस्थान [[संमेदशिखर]] माना जाता है।{{sfn|जैन|२०१५|p=१९४}} इनका चिन्ह [[गैंडा]] इनका चिह्न था।है। श्रेयांसनाथ के काल में जैन धर्म के अनुसार अचल नाम के प्रथम बलदेव, त्रिपृष्ठ नाम के प्रथम वासुदेव और अश्वग्रीव नाम के प्रथम प्रतिवासुदेव का जन्म हुआ।
 
==इन्हें भी देखें==