"अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद": अवतरणों में अंतर

सम्पादन सारांश नहीं है
छो (बॉट: अंगराग परिवर्तन)
No edit summary
'''अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद''' (All India Council for Technical Education / AICTE) [[भारत]] में नई तकनीकी संस्थाएं शुरू करने, नए पाठयक्रम शुरू करने और तकनीकी संस्थाओं में प्रवेश-क्षमता में फेरबदल करने हेतु अनुमोदन देती है। यह ऐसी संस्थाओं के लिए मानदंड भी निर्धारित करती है। इसकी स्थापना 1945 में सलाहकार निकाय के रूप में की गई थी और बाद में संसद के अधिनियम द्वारा 1987 में इसे संविधिक दर्जा प्रदान किया गया।<ref>[http://www.aicte-india.org/aboutaicte.php About AICTE]</ref>
{{स्रोत हीन|date=अगस्त 2014}}{{Original research}}[[चित्र:AICTE logo.jpg|right|thumb|200px|अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद का प्रतीक चिह्न (लोगो)]]
'''अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद''' (All India Council for Technical Education / AICTE) [[भारत]] में नई तकनीकी संस्थाएं शुरू करने, नए पाठयक्रम शुरू करने और तकनीकी संस्थाओं में प्रवेश-क्षमता में फेरबदल करने हेतु अनुमोदन देती है। यह ऐसी संस्थाओं के लिए मानदंड भी निर्धारित करती है। इसकी स्थापना 1945 में सलाहकार निकाय के रूप में की गई थी और बाद में संसद के अधिनियम द्वारा 1987 में इसे संविधिक दर्जा प्रदान किया गया।
 
इसका मुख्यालय [[नयी दिल्ली]] में है जहाँ इसके अध्यक्ष, उपाध्यक्ष एवं सचिव के कार्यालय हैं। [[कोलकाता]], [[चैन्नई]], [[कानपुर]], [[मुम्बई]], [[चंडीगढ़]], [[भोपाल]] और [[बंगलौर]] में इसके 7 क्षेत्रीय कार्यालय स्थित हैं। [[हैदराबाद]] में एक नया क्षेत्रीय कार्यालय स्थापित किया गया है।
 
यह तकनीकी संस्थाओं के प्रत्यायन या कार्यक्रमों के माध्यम से तकनीकी शिक्षा के गुणवत्ता विकास को भी सुनिश्‍चित करती है। अपनी विनियामक भूमिका के अलावा अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद की एक बढ़ावा देने की भी भूमिका है जिसे यह तकनीकी संस्थाओं को अनुदान देकर महिलाओं, विकलांगों और समाज के कमजोर वर्गों के लिए तकनीकी शिक्षा का विकास, नवाचारी, संकाय, अनुसंधान और विकास को बढ़ावा देने संबंधी योजनाओं के माध्यम से कार्यान्वित करती है।<ref>[http://www.aicte-india.org/objectives.php Objectives]</ref>
परिषद 21 सदस्यों वाली कार्यकारी समिति के माध्यम से अपना कार्य करती है। 10 सांविधिक अध्ययन बोर्ड द्वारा सहायता प्राप्त है जो नामत: इंजीनियरी और प्रौद्योगिकी में अवर स्नातक अध्ययन, इंजीनियरी और प्रौद्योगिकी में स्नातकोत्तर और अनुसंधान, प्रबंध अध्ययन, व्यावसायिक शिक्षा, तकनीकी शिक्षा, फर्मास्युटिकल शिक्षा, वास्तुशास्त्र, होटल प्रबंधन और कैटरिंग प्रौद्योगिकी, सूचना प्रौद्योगिकी, टाउन एवं कंट्री पलैनिंग परिषद की सहायता करते हैं।
 
==सन्दर्भ==
{{टिप्पणीसूची}}
 
== इन्हें भी देखें==