मुख्य मेनू खोलें

बदलाव

2 बैट्स् नीकाले गए ,  3 वर्ष पहले
थोड़ा सा सुधारा।
[[चित्र:Coffee Plantation.jpg|right|thumb|300px|कॉफी की खेती]]
'''कृषि''' खेती और वानिकी के माध्यम से खाद्य और अन्य सामान के उत्पादन से सम्बंधितसंबंधित है। कृषि एक मुख्य विकास था, जो [[सभ्यता|सभ्यताओं]] के उदय का कारण बना, इसमें [[पशुपालन|पालतू]] [[पालतू बनाना|जानवरों]] का [[जंतु|पालन]] किया गया और पौधों ([[फसलें|फसलों]]) को उगाया गया, जिससे [[अतिरिक्त]] खाद्य का उत्पादन हुआ। इसने अधिक [[जनसंख्या घनत्व|घनी आबादी]] और [[सामाजिक संतुष्टि|स्तरीकृत]] समाज के विकास को सक्षम बनाया। कषि का अध्ययन [[कृषि विज्ञान]] के रूप में जाना जाता है (इससे संबंधित अभ्यास [[बागवानी]] का अध्ययन [[बागवानी|होर्टीकल्चर]] में किया जाता है)।
 
तकनीकों और विशेषताओं की बहुत सी किस्में कृषि के अर्न्तगतअन्तर्गत आती है, इसमें वे तरीके शामिल हैं जिनसे पौधे उगाने के लिए उपयुक्त भूमि का विस्तार किया जाता है, इसके लिए पानी के चैनल खोदे जाते हैं और सिंचाई के अन्य रूपों का उपयोग किया जाता है। [[खेती|कृषि योग्य भूमि]] पर फसलों को [[कृषि योग्य भूमि|उगाना]] और चरागाहोंचारागाहों और [[ग्रामीण काव्य|रेंजलैंड]] पर [[समूहीकरण|पशुधन]] को [[पशुधन|गड़रियों]] के द्वारा [[परास भूमि|चराया जाना]], मुख्यतः कृषि से सम्बंधित रहा है। कृषि के भिन्न रूपों की पहचान करना व उनकी मात्रात्मक वृद्धि, पिछली शताब्दी में विचार के मुख्य मुद्दे बन गए।
विकसित दुनिया में यह रेंजक्षेत्र [[स्थायी कृषि|जैविक कृषि]] (उदाहरण [[पर्माकल्चर]] या [[कार्बनिक खेती|कार्बनिक कृषि]]) से लेकर [[गहन कृषि]] (उदाहरण [[औद्योगिक कृषि]]) तक फैली है।
 
आधुनिक [[अग्रोनोमी|एग्रोनोमी]], [[पौधा प्रजनन|पौधों में संकरण]], [[कीटनाशक|कीटनाशकों]] और [[उर्वरक|उर्वरकों]] और तकनीकी सुधारों ने फसलों से होने वाले उत्पादन को तेजी से बढायाबढ़ाया है और साथ ही यह व्यापक रूप से पारिस्थितिक क्षति का कारण भी बना है और इसने मनुष्य के स्वास्थ्य पर ऋणात्मक प्रभाव डाला है। [[चयनात्मक प्रजनन]] और [[पशुपालन]] की आधुनिक प्रथाओं जैसे [[गहन सुअर खेती|गहन सूअर खेती]] (और इसी प्रकार के अभ्यासों को [[मुर्गा|मुर्गी]] पर भी लागू किया जाता है) ने [[मांस]] के उत्पादन में वृद्धि की है, लेकिन इससे [[पशु क्रूरता]], [[प्रतिजैविक|एंटीबायोटिक दवाओं]] के स्वास्थ्य प्रभाव, [[वृद्धि हार्मोन|वृद्धि होर्मोन]] और मांस के औद्योगिक उत्पादन में सामान्य रूप से काम में लिए जाने वाले रसायनों के बारे में मुद्दे सामने आये हैं।
 
प्रमुख कृषि उत्पादों को मोटे तौर पर [[भोजन]], [[रेशा]], [[ईंधन]], [[कच्चा माल]], [[फ़ार्मास्युटिकल्स|फार्मास्यूटिकल्स]] और [[उद्दीपक|उद्दीपकों]] में समूहित किया जा सकता है। साथ ही सजावटी या विदेशी उत्पादों की भी एक श्रेणी है। 2000 से, पौधों का उपयोग [[जैव ईंधन|जैविक ईंधन]], [[जैव फ़ार्मास्युटिकल्स|जैवफार्मास्यूटिकल्स]], [[जैव प्लास्टिक|जैवप्लास्टिक]],<ref>मार्केट वॉच (2007), [http://www।marketwatch।com/news/story/bioengineers-aim-cash-plants-make/story।aspx?guid=%7B7F35EAE4-CA2D-4E0D-9262-D392566E906B%7D प्लास्टिक एक से अधिक तरीकों में हरे हैं]।</ref> और फार्मास्यूटिकल्स<ref>[1] ^ BIO (n।d।) [http://www।bio।org/healthcare/pmp/factsheet5।asp औषधियों के उत्पादन के लिए बनाम खाद्य पदार्थ तथा चारे के लिए पौधों को उगाना।]</ref> के उत्पादन में किया जा रहा है। विशेष खाद्यों में शामिल हैं [[अनाज]], [[सब्जियों|सब्जियां]], [[फल]] और [[मांस]]। [[रेशा|रेशे]] में [[कपास]], [[ऊन]], [[सन]], [[रेशम]] और [[सन|फ्लैक्स]] शामिल हैं। [[कच्चा माल|कच्चे माल]] में लकड़ी और बाँस शामिल हैं। उद्दीपकों में [[तम्बाकू|तंबाकू]], [[शराब]], [[अफ़ीम|अफीम]], [[कोकीन]] और [[डिजीटेलिस|डिजिटेलिस]] शामिल हैं। पौधों से अन्य उपयोगी पदार्थ भी उत्पन्न होते हैं, जैसे [[रेजिन]]। जैव ईंधनों में शामिल हैं [[मेथेन|बायोमास]] से [[जैविक द्रव्य|मेथेन]], [[एथेनोल]] और [[जैव डीजल]]।[[फूल|कटे हुए फूल]], [[नर्सरी (बागवानी)|नर्सरी के पौधे]], उष्णकटिबंधीय मछलियांमछलियाँ और व्यापार के लिए पालतू पक्षी, कुछ सजावटी उत्पाद हैं।
 
2007 में, दुनिया के लगभग एक तिहाई श्रमिक कृषि क्षेत्र में कार्यरत थे। हालांकि, [[औद्योगीकरण|औद्योगिकीकरण]] की शुरुआत के बाद से कृषि से सम्बंधित महत्त्व कम हो गया है और 2003 में-इतिहास में पहली बार-[[सेवा (अर्थशास्त्र)|सेवा]] क्षेत्र ने एक [[आर्थिक क्षेत्र]] के रूप में कृषि को पछाड़ दिया क्योंकि इसने दुनिया भर में अधिकतम लोगों को रोजगार उपलब्ध कराया।<ref>[2] ^ [http://www।ilo।org/public/english/employment/strat/kilm/index।htm श्रम बाजार के ][[अंतर्राष्ट्रीय श्रम संगठन]] महत्वपूर्ण संकेतक 2008, [http://www।ilo।org/public/english/employment/strat/download/get08।pdf पी। 11-12]
 
== संज्ञा ==
शब्द ''agriculture'' लैटिन शब्द ''agricultūra'' का अंग्रेजी रूपांतर है, ''ager'' का अर्थ है "एक क्षेत्र"<ref>[6] ^ [http://catholic।archives।nd।edu/cgi-bin/lookup।pl?stem=ager&amp;ending= लैटिन शब्द लुकअप]</ref> और ''cultūra'' का अर्थ है "[[खेती|जुताई]]", सख्त अर्थ में "मिटटीमिट्टी की [[जुताई]]"।<ref>[7] ^ [http://catholic।archives।nd।edu/cgi-bin/lookup।pl?stem=cultura&amp;ending= लैटिन शब्द लुकअप]</ref> इस प्रकार से, शब्द के शाब्दिक पाठन से हमें जो अर्थ प्राप्त होता है वह है "एक क्षेत्र / क्षेत्रों की जुताई"
 
== अवलोकन ==
एक अन्य है बीटी कपास, जो अमेरिकी कपास का 63% भाग बनाती है।<ref>[80] ^ [http://www।ers।usda।gov/Data/BiotechCrops/adoption।htm http://www।ers।usda।gov/Data/BiotechCrops/adoption।htm] |आनुवांशिक इंजीनियरिंग फसलें अमेरिका में: दत्तक ग्रहण का विस्तार] 8 दिसम्बर 2008 को उपलब्ध</ref>
 
कुछ लोगों का मानना है कि समान या बेहतर कीट-प्रतिरोधी लक्षणों को पारंपरिक प्रजनन पद्धतियों के द्वारा भी प्राप्त किया जा सकता है और भिन्न कीटों के लिए प्रतिरोधी क्षमता को जंगली प्रजातियों के साथ संकरण या पर परागण के द्वारा प्राप्त किया जा सकता है। कुछ मामलों में, जंगली प्रजातियां प्रतिरोधी लक्षण का प्राथमिक स्रोत होती हैं; कुछ टमाटर की फसलें जिन्होंने कम से कम उन्नीस रोगों के लिए प्रतिरोधी क्षमता प्राप्त कर ली है, ऐसा टमाटर की जंगली प्रजातियों के साथ संकरण के माध्यम से किया गया है।<ref>[81] ^ किम्ब्रेल्ल, ए ''फल्टल हार्वेस्ट: औद्योगिक कृषि की त्रासदी,'' द्वीप प्रेस, वॉशिंगटन, 2002।</ref>
 
=== लागत और GMOs के लाभ ===
* [[वाइल्ड कल्चर|वाइल्डकल्चर]]
 
==सन्दर्भ==
== संदर्भ ==
=== नोट्स ===
{{टिप्पणीसूची|2}}