"शेख़ अब्दुल्ला" के अवतरणों में अंतर

1,048 बैट्स् जोड़े गए ,  5 वर्ष पहले
+निजी जीवन
(+निजी जीवन)
|religion = मुस्लिम
}}
'''शेख अब्‍दुल्‍ला''' (१९०५-१९८२) [[जम्मू और कश्मीर के मुख्यमंत्री]] दो विभिन्न अवसरों पर रहे। उनके बेटे [[फारूक अब्दुल्ला|फारूक]] और पोते [[उमर अब्दुल्ला|उमर]] भी मुख्य मन्त्री रहे हैं।
 
==निजी जीवन==
'''शेख अब्‍दुल्‍ला''' (१९०५-१९८२) [[जम्मू और कश्मीर के मुख्यमंत्री]] दो विभिन्न अवसरों पर रहे।
इनके प्रारम्भिक जीवन के बारे में मुख्य महत्वपूर्ण स्रोत इनके द्वारा लिखा गया आतिश-ए-चिनार नामक आत्मकथा है। यह सौरा नामक गाँव में पैदा हुए जो श्रीनगर से बाहर था। इनका जन्म इनके पिता शेख मोहम्मद इब्राहिम के मौत के ग्यारह दिनों के बाद हुआ था। इनके पिता कश्मीरी शाल बनाने और बेचने का कार्य करते थे।
 
यह मैट्रिक परीक्षा पंजाब विश्वविद्यालय से 1922 में उत्तीर्ण हुए।
उनके बेटे [[फारूक अब्दुल्ला|फारूक]] और पोते [[उमर अब्दुल्ला|उमर]] भी मुख्य मन्त्री रहे हैं।
 
==सन्दर्भ==
{{टिप्पणीसूची}}
 
==बाहरी कड़ियाँ==
{{आधार}}