"मीरा बाई" के अवतरणों में अंतर

1,857 बैट्स् जोड़े गए ,  6 वर्ष पहले
छो
सम्पादन सारांश रहित
छो
* राग सोरठ के पद
* इसके अलावा मीराबाई के गीतों का संकलन "मीरांबाई की पदावली' नामक ग्रन्थ में किया गया है।
 
== साहितिक देन ==
मीरा जी ने विभिन्न पदों व गीतों की रचना की| मीरा के पदों मे ऊँचे अध्यात्मिक अनुभव हैं| उनमे समाहित संदेश और अन्य संतो की शिक्षा मे समानता नजर आती हैं| उनके प्रप्त पद उनकी अध्यात्मिक उन्नति के अनुभवों का दर्पण हैं| मीरा ने अन्य संतो की तरह कई भाषाओं का प्रयोग किया है जैसे -
 
हिन्दी, गुजरती, ब्रज, अवधी, भोजपुरी, अरबी, फारसी, मारवाड़ी, संस्कृत, मैथली और पंजाबी|
 
भावावेग, भावनाओं की मार्मिक अभिव्यक्ति, प्रेम की ओजस्वी प्रवाहधारा, प्रीतम वियोग की पीड़ा की मर्मभेदी प्रखता से अपने पदों को अलंकृत करने वाली प्रेम की साक्षात् मूर्ति मीरा के समान शायद ही कोई कवि हो| <ref name="Literature">[https://spiritualworld.co.in/bhakto-aur-santo-ki-jivni-aur-bani-words-by-great-bhagats/meera-bai-ji-an-introduction भक्त मीरा बाई जी]</ref>
 
== इन्हें भी देखें==
* [http://www.anubhuti-hindi.org/bhaktisagar/meerabai/index.htm अनुभूति पर मीराबाई]
* [https://books.google.co.in/books?id=3nNBwqsbMNkC&printsec=frontcover#v=onepage&q&f=false '''मीरा ग्रन्थावली'''] (गूगल पुस्तक ; लेखक-कल्याणसिंह शेखावत)
* [https://spiritualworld.co.in/bhakto-aur-santo-ki-jivni-aur-bani-words-by-great-bhagats/meera-bai-ji-an-introduction/meera-bai-ji-ke-bhajan मीराबाई जी के भजन]
 
{{भक्ति काल के कवि }}
65

सम्पादन