"ईशनिंदा" के अवतरणों में अंतर

आकार में कोई परिवर्तन नहीं ,  6 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश रहित
[[चित्र:Salman-Rushdie-1.jpg|right|thumb\|300px|१९८९ में [[सलमान रुश्दी]] को ईशनिन्दा का दोषी बताकर अयतोल्ल खोमेनी ने [[फतवा]] जारी किया]]
'''ईशनिंदा''' (Blasphemy) ईश्वर की श्रद्धा, धार्मिक अथवा पवित्र लोगों से सम्बंद्ध वस्तु अथवा धार्मिक रूप से अनुल्लंघनीय कार्य का अपमान अथवा अवमानना को कहते हैं। विभिन्न देशों में ईशनिंदा से सम्बंधित कानून भी बने हुये हैं जिसके तहत अगर कोई व्यक्ति जानबूझकर किसी पूजा करने की वस्तु या जगह को नुकसान या फिर धार्मिक सभा में व्यवधान डालता अथवा कोई किसी की धार्मिक भावनाओं का अपमान बोलकर या लिखकर या कुछ दृश्यों से करता है तो वो भी गैरक़ानूनी माना जाता है और इसके लिए निश्चित दण्ड का प्रावधान होता है।<ref>{{cite web|title=क्या है विवादास्पद ईशनिंदा क़ानून ? |url=http://www.bbc.co.uk/hindi/news/2012/08/120828_blasphemy_laws_qa_ss.shtml |publisher=बीबीसी हिन्दी |date=२८ अगस्त २०१२|accessdate=६ जून २०१४}}</ref><ref>{{cite web|title=हिंदू मंदिर पर हमला: ईशनिंदा का केस दर्ज |url=http://www.bbc.co.uk/hindi/international/2012/10/121001_international_pakistan_hindu_temple_attack_aa.shtml |publisher=बीबीसी हिन्दी|date=१ अक्टूबर २०१२|accessdate=६ जून २०१४}}</ref><ref>{{cite web|title=शंका जताने से कम नहीं होती श्रद्धा|author=युधिष्ठिर लाल कक्कड़ |url= http://navbharattimes.indiatimes.com/astro/holy-discourse/religious-discourse/---/astroshow/1258938.cms |publisher=नवभारत टाइम्स |date=१० अक्टूबर २००५|accessdate=६ जून २०१४}}</ref>