"ईसप" के अवतरणों में अंतर

1,220 बैट्स् जोड़े गए ,  5 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश रहित
(+img)
{{Infobox writer
| name = एसोप
| image = Aesop pushkin01.jpg
| image_size =
| alt =
| caption = [[Hellenistic art|Hellenistic]] statue claimed to depict Aesop, Art Collection of [[Villa Albani]], Rome
| birth_name =
| birth_date = ६२० ईसा पूर्व
| death_date = ५६४ ईसा पूर्व
| birth_place =
| death_place = [[Delphi]], यूनान
| nationality =
| ethnicity = [[Ancient Greek]]
| period =
| genre = [[Fable]]
| subject =
| movement =
| notableworks = Number of [[fable]]s now collectively known as ''[[Aesop's Fables]]''
}}
 
[[Image:Aesopus - Aesopus moralisatus, circa 1485 - 2950804 Scan00010.tif|thumb|''Aesopus moralisatus'', 1485]]
 
ईसप ( ६२० ईसा पूर्व – ५६४ ईसा पूर्व ) प्राचीन एथेंस के कहानीकार थे । ये कई कहनियों की के रचनाकार माने जाते हैं । इन कहनियों को एसोप की कहनिया या अंग्रेजी में ईसप फब्लेस (Aesop's Fables) के नाम से जाना जाता हैं
 
'''ईसप''' जनप्रिय नीतिकथाकार। इनकी कथाओं के पात्र मनुष्य की अपेक्षा पशु पक्षी अधिक हैं। इस प्रकार की कथाओं को "बीस्ट फ़ेबुल्स" कहा जाता है। परंतु ईसप नाम का कोई व्यक्ति कभी था, इस विषय में बहुत कुछ संदेह है। तथापि [[होरोदोतस]] एवं कतिपय अन्य लेखकों के साक्ष्य के अनुसार ईसप के जीवन की कथा इस प्रकार की थी : ई.पू. छठी शताब्दी के मध्य में ईसप सामाँस द्वीप के निवासी इयाद्मन् के दास थे, परंतु वे विदेशी दास जिनके विषय में यह निश्चित पता नहीं था कि फ्रयाके, फ्रिगिया अथवा इथियोपिया देशों में से उनका जन्म कहाँ हुआ था। वे अत्यंत कुरूप थे। देल्फी में उन पर देवमंदिर के स्वर्णचषक की चोरी का आरोप लगाया गया और उनकी पर्वतशिखर से धक्का देकर मृत्युदंड दिया गया। पर प्रो॰ गिल्बर्ट मरे को इस कथा पर विश्वास नहीं है।
 
516

सम्पादन