"इम्फाल": अवतरणों में अंतर

12 बाइट्स जोड़े गए ,  13 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश नहीं है
No edit summary
No edit summary
 
==पर्यटन==
===श्री गोविंददेव जी मंदिर===
यह मंदिर मणिपुर के पूर्व शासकों के महल के निकट ही है, व वैष्णवों का पावन तीर्थ स्थल है। यह दो स्वर्ण गुम्बदों सहित एक सरल किंतु सुंदर निर्माण है। इसमें एक पक्का प्रांगण तथा सभागार भि है। यहां के मुख्य देवता श्री राधा-कृष्ण हैं, जिनके साथ ही बलराम और कृष्ण के मंदिर एक ओर हैं, तो दूसरी ओर जगन्नाथ, बलभद्र एवं सुभद्रा के मंदिर हैं।
===शहीद मीनार===
इंफाल के पोलोग्राउंड के पूर्वी ओर यह मीनार बीर टिकेंद्रजीत पार्क में खड़ी है। यह ब्रिटिश सेना के विरुद्ध १८९१ के युद्ध के मणिपुरी शहीदों की याद में बनी है। यह मीनार फोटो खींचने वालों का मुख्य आकर्षण है।
===युद्ध स्मारक===
<!--War Cemetery: - The British and the Indian Army Cemeteries commemorating those who died in the Second World War are serene and well maintained with little stone markers and bronze plaques recording brief accounts of their anguish and sacrifice. These graves are maintained by the Commonwealth War Graves commossion. -->
===मणिपुर ज़ू===
<!-- Manipur Zoological Garden: - About 6 Kms. From Imphal towards the west, lies the Zoological Garden at Iroishemba, hidden half-a-mile from the Imphal-Kangchup road. Graceful brow-antlered deer (Sangai), one of the rarest species in the world, can be seen there in sylvan surroundings. A trip to this garden at the foot of pine-covered hillocks in the western-most corner of Lamphelpat will be an affair to remember. It will be the children’s day out. -->
===सिंगदा===
९२१ मीटर की ऊंचाई पर यह सुंदर पिकनिक स्थल इंफ़ाल से १६ किलोमीटर दूर है।
===लंगताबाल===
यह भारत-बर्मा सीमा से ६ किलोमीटर दूर है। <!--Langthabal: - It is 6kms from Imphal on the Indo-Myanmar road. Langthabal is a small hillock rich in the relics of an old historical place, well-planned tempted to revisit with packed lunch and a bunch of bum-chums. Red Hill (Maibam Lokpa Ching):- It is a hillock about 17 Kms. South of Imphal City on Tiddim Road. The place was an action-packed location where a fierce battle took place between the Allied Forces and the Japanese Forces in World War II. Japanese war veterans constructed a monument at the foot of this hill and it was significantly named” India Peace Memorial” -->
==बीष्नुपुर==