"पुत्तिंगल मंदिर हादसा, केरल" के अवतरणों में अंतर

टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
 
==आग==
सुबह 3 बजे के करीब मंदिर में एक समारोह के दौरान आतिशबाज़ी की जा रही थी जिसे देखने के लिए मैदान पर 10 हज़ार से ज्यादा लोग मौजूद थे।
इसी दौरान चिंगारियां पास के गोदाम तक पहुंच गई यहाँ गुरुवार को नववर्ष [[विशु]] के मौके के लिए पटाखों का ढेर रखा हुआ था। हादसे का असर डेढ़ किलोमीटर की दूरी तक पड़ा।<ref>{{cite news|title=कोल्लम मंदिर में आग : 'पटाखे फोड़ने की होड़' हो सकती है हादसे की वजह|url=http://khabar.ndtv.com/news/file-facts/competitive-fireworks-may-have-led-to-kollam-temple-fire-officials-say-1370993|accessdate=10 अप्रैल 2016}}</ref>
 
==बचाव==
12,522

सम्पादन