"पुत्तिंगल मंदिर हादसा, केरल" के अवतरणों में अंतर

अल्प सुधार एवं सूचना अद्यतन की।
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
(अल्प सुधार एवं सूचना अद्यतन की।)
| coordinates = {{coord|8.812619|N| 76.664436|E|display=inline,title}}
|date=10 अप्रैल 2016
|time= 03:0030
|place=[[कोल्लम]], [[केरल]]<br>, [[भारत]]
|fatalities= लगभग 102<ref name= लाइव हिंदुस्तान />+
|injuries= लगभग 200<ref name= लाइव हिंदुस्तान />}}+
}}
 
 
'''कोल्लम मंदिर आतिशबाजी विस्फोट''' एक भयावह आतिशबाजी विस्फोट है जो 10 अप्रैल 2016 में कोल्लम पुत्तिंगल मंदिर में [[भारतीय मानक समय|भारतीय मानक समयानुसार]] रात्रि 03:30 ISTबजे (22:15 [[ग्रीनविच मीन टाइम|जीएमटी]]) पर हुआ था। इस हादसे में 102 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है और 350 से अधिक लोग घायल हो चुके हैं।<ref>{{cite web|title=Kollam temple fire: 106 dead, over 350 injured |trans_title=कोल्लम मंदिर आग: १०६ की मौत और ३५० से अधिक घायल |url=http://www.thehindu.com/news/national/kerala/kerala-paravur-temple-fireworks-tragedy-several-dead/article8457603.ece?utm_source=RSS_Feed&utm_medium=RSS&utm_campaign=RSS_Syndication |publisher=द हिन्दू |date=10 अप्रैल 2016|language=अंग्रेज़ी |author= सी॰ गौरीदसन नैयर}}</ref><ref name=लाइव हिंदुस्तान>{{cite news|title=कोल्लम मंदिर हादसे में 102 लोगों के मरने की पुष्टि|url=http://www.livehindustan.com/news/national/article1-kerala-paravoor-puttingal-temple-massive-fire-many-died-525209.html|accessdate=10 अप्रैल 2016}}</ref>
 
केरल के मुख्यमंत्री [[ओमान चांडी]] के द्वारा बताया गया कि इस हादसे में अबतक 102 लोगों की मौत हो चुकी है और 200 के करीब लोग घायल हो चुके हैं।<ref name=लाइव हिंदुस्तान>{{cite news|title=कोल्लम मंदिर हादसे में 102 लोगों के मरने की पुष्टि|url=http://www.livehindustan.com/news/national/article1-kerala-paravoor-puttingal-temple-massive-fire-many-died-525209.html|accessdate=10 अप्रैल 2016}}</ref>
 
==आग==
सुबह 3 बजे के करीब मंदिर में एक समारोह के दौरान आतिशबाज़ी की जा रही थी जिसे देखने के लिए मैदान पर 10 हज़ार से ज्यादा लोग मौजूद थे। इसी दौरान चिंगारियां पास के गोदाम तक पहुंच गई यहाँ गुरुवार को नववर्ष [[विशु]] के मौके के लिए पटाखों का ढेर रखा हुआ था। हादसे का असर डेढ़ किलोमीटर की दूरी तक पड़ा।<ref>{{cite news|title=कोल्लम मंदिर में आग: 'पटाखे फोड़ने की होड़' हो सकती है हादसे की वजह |url=http://khabar.ndtv.com/news/file-facts/competitive-fireworks-may-have-led-to-kollam-temple-fire-officials-say-1370993|accessdate=10 अप्रैल 2016}}</ref> मारे गए लोगों में आम पुरूषों और महिलाओं के अलावा पुलिस अधिकारी भी शामिल हैं।<ref name=लाइव हिंदुस्तान />
इसी दौरान चिंगारियां पास के गोदाम तक पहुंच गई यहाँ गुरुवार को नववर्ष [[विशु]] के मौके के लिए पटाखों का ढेर रखा हुआ था। हादसे का असर डेढ़ किलोमीटर की दूरी तक पड़ा।<ref>{{cite news|title=कोल्लम मंदिर में आग : 'पटाखे फोड़ने की होड़' हो सकती है हादसे की वजह|url=http://khabar.ndtv.com/news/file-facts/competitive-fireworks-may-have-led-to-kollam-temple-fire-officials-say-1370993|accessdate=10 अप्रैल 2016}}</ref>
मारे गए लोगों में आम पुरूषों और महिलाओं के अलावा पुलिस अधिकारी भी शामिल हैं।<ref name=लाइव हिंदुस्तान />
 
==बचाव==
{{reflist|2}}
 
[[श्रेणी:2016 में भारत]]
[[Category:2016 disasters in India|Kollam temple accident]]
[[साँचाश्रेणी:केरल]]