"एकीकृत परिपथ" के अवतरणों में अंतर

आकार में कोई परिवर्तन नहीं ,  4 वर्ष पहले
→‎परिचय: छोटा सा सुधार किया।
छो (Reverted 1 edit by 49.201.90.65 (talk) identified as vandalism to last revision by राजु सुथार. (TW))
(→‎परिचय: छोटा सा सुधार किया।)
टैग: मोबाइल एप सम्पादन
 
== परिचय ==
सूक्ष्मचिप, एकीपरि की एक चिप होती है, जो कि [[सिलिकॉन]] से बनी होती है। यह [[प्रोगाम लॉजिक]] और [[कंप्यूटर मेमोरी]] के लिए बनाई जाती है। वर्तमान में सूक्ष्मचिप [[कंप्यूटर]], [[मोबाइल]], पीडीए और माइक्रोवेव ओवन सहित कई [[इलेक्ट्रॉनिक]] उपकरणों का आवश्यक अंग बन चुकी हैं।<ref>[http://www.livehindustan.com/news/tayaarinews/gyan/67-75-87002.html सूक्ष्मचिप]। हिन्दुस्तान लाइव। २१ दिसम्बर २००९</ref> सूक्ष्मचिप अपने ५० वर्षो की यात्रा पूर्ण कर चुकी है। १९५८ में इसका अविष्कार रॉबर्ट नॉयस और जैक किल्बे ने किया था। ये दोनों अलग-अलग कंपनियों में काम करते थे और दोनों ही कंपनियां इस शोध को अपने दृष्टिकोण से कर रही थी। इस शोध के उपरांत बाद दोनों ही कंपनियों ने इसके पेटेंट के लिए आवेदन किया। बाद में दोनों कंपनियों को सम्मिलित रूप से इसका लाइसेंस दिया गया और इसका सम्मिलत पेटेंट दिया गया। पहली बार सूक्ष्मचिप [[१९६१]] में लोगों को उपलब्ध हुई। जिक किल्बे ने ही बाद में पोर्टेबल कैलकुलेटर का आविष्कार किया। तब से लेकर अब तक सूक्ष्मचिप में कई बदलाव आ चुके हैं। पहली सूक्ष्मचिप में जहां एक ट्रांजिस्टर, एक कैपेसिटर और तीन रजिस्टर थे, वहीं आज की सूक्ष्मचिप में एक छोटेछोटी सी जगह में लगभग १२५ मिलियन ट्रांजिस्टर समाए होते हैं।
 
सूक्ष्मचिप के कई और लाभ भी हैं। वर्तमान में सूक्ष्मचिप का प्रयोग जैविक प्रणालियों (बॉयोलॉजिकल सिस्टम) में होता है। इसका प्रयोग जीवन बचाने में भी होने लगा है। हृदय रोगियों के लिए पेसमेकर में भी सूक्ष्मचिप रहती है। पेसमेकर हृदय गति नियत्रिंत रखता है। सूक्ष्मचिप का प्रयोग घड़ियों, मोबाइल फोन से लेकर स्पेस शटल तक में हो रहा है।
56

सम्पादन