"मान्य औषधकोश" के अवतरणों में अंतर

81 बैट्स् जोड़े गए ,  5 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश रहित
छो (बॉट: डॉट (.) को पूर्णविराम और लाघव चिह्न (॰) में बदला।)
 
भारतीय शासन द्वारा स्थापित नैशनल फार्मूलरी कमिटी ने नैशनल फार्मूलरी ऑव इंडिया नामक एक ग्रंथ अंग्रेजी में तैयार किया, जिसमें लगभग सब ओषधि द्रव्यों का वर्णन और उनसे बनने वाले नुस्खे दिए हैं। यह 1960 ई0 में स्वास्थ्य मंत्रालय, केंद्रीय सरकार, नई दिल्ली द्वारा प्रकाशित हो गया। ब्रिटिश फारमाकोपिया के आधार पर हिंदी में पश्चात्य द्रव्य-गुण-विज्ञान पर एक पुस्तक डॉ॰ रामसुशील सिंह द्वार लिखी गई और मोतीलाल बनारसीदास वाराणसी द्वारा प्रकाशित हुई है।
[[चित्र:Pharmacopoeia.png|thumb|मान्य औषधकोश।]]
 
== इन्हें भी देखें ==
* [[औषध-प्रभाव-विज्ञान]] (PHARMACOLOGY)
92

सम्पादन