"फुलकारी": अवतरणों में अंतर

2 बाइट्स जोड़े गए ,  6 वर्ष पहले
सुधार किया
No edit summary
(सुधार किया)
[[ImageFile:Patiala Phulkari.jpg|thumb|350px200px|right|'''फुलकारी ''' ,[[पटियाला ]]]]
 
'''फुलकारी'' एक तरहां की [[कढाई]] होती है जो चुनरी /दुपटो पर हाथों से की जाती है। फुलकारी शब्द "फूल" और "कारी" से बना है जिसका मतलब फूलों की कलाकारी। कलाकारी
=कला का प्रतीक=
पुराने समय में बचपन में ही लड्किंया इस कला को सीख लेती थी और अपनी शादी के लिए दहेज बनाने लगती थी।यह लड़की की शख्शीअत की कला का प्रतीक मानी जाती थी।
==प्रयोग ==
*शादी और त्यौहार
*शगुनो के समय
*लोक दाज में लड़किओं को फुलकारियां के बाग़ देते थे ।
 
==कला का प्रतीक==
पुराने समय में बचपन में ही लड्किंयालड़कियां इस [[कला]] को सीख लेती थी और अपनी [[शादी]] के लिए [[दहेज]] बनाने लगती थी।यहथी। यह [[लड़की]] की शख्शीअत की कला का प्रतीक मानी जाती थी।
==प्रयोग ==
* शादी और त्यौहार
*शगुनो शगुनों के समय
* लोक दाज में लड़किओं को फुलकारियां के बाग़ देते थे ।
*लांवा फेरे लेने के समय
==संधर्भसंदर्भ ==
{{टिप्पणीसूची}}
{{संधर्भ}
 
==बाहरी कड़ियाँ==
* [http://www.jankiphulkari.com Founder of Phulkara website]
 
[[श्रेणी:पंजाबी विरासत ]]
47,590

सम्पादन