"सिवनी ज़िला" के अवतरणों में अंतर

109 बैट्स् जोड़े गए ,  3 वर्ष पहले
शासकीय बस स्टेंड से कुछ दूरी पर बाएँ तरफ है। यहां तालाब के बीच में टापू बना है। तालाब राष्ट्रीय राजमार्ग के किनारे लगभग 50 एकड भू क्षेत्र में फैला है। तालाब के किनारे सुन्दर घाट, चौपाटी, स्वच्छ परिसर एवं बीचों बीच वन टापू पर हरे भरे खूबसूरत पेड लगे है। नौकाविहार की सुविधापूर्ण व्यवस्था होने के कारण यह एक पर्यटन स्थल के रूप में विकसित हुआ है। यह जिले की एक ऐतिहासिक धरोहर तथा सिवनी नगर की पहचान है।
== [[वैनगंगा नदी]]==
यहां मध्यप्रदेश की एक प्रमुख नदी है [[वैनगंगा नदी]] सिवनी जिले की जीवनधारा के रूप में जानी जाती है। इस नदी का उद्गम स्थल गोपालगंज से लगभग 6 कि.मी. पूर्वी दिशा में ग्राम मुंडारा मे हुआ है।एशिया का सबसे बड़ा मिट्टी से बनानिर्मित [[भीमगढ संजय सरोवर बांध]] इसीहैँ यहा बाँध [[वैनगंगा नदी]] पर जिले के [[छपारा]] ब्लाक के अंतर्गत भीमगढ़ में बना हुआ है। यह नदी सिवनी की अर्द्व परिक्रमा करती हुई लखनवाड़ा दिघोरी [[बंडोल]] [[छपारा]] होते हुए [[बालाघाट जिला]], भंडारा तथा चांदा जिले से बहती हुई [[वैनगंगा नदी]] वर्धा नदी मेँ मिल जाती है। आगे जाकर कन्हान,बावनथडी तथा [[ पेँच नदी]] भी [[वैनवैनगंगा गंगानदी]] नदी से मिल जाती है वर्धा,कन्हान,[[पेँच नदी]],तथा बावनथडी इसकी सहायक नदीयाँ है।
आगे जाकर वैनगंगा नदी भी [[गोदावरी नदी]] मेँ मिल जाती हैँ। इस प्रकार ये नदी गोदावरी नदी जैसी महानदी मैँ मिलकर अपना उद्देशय पूर्ण कर लेती हैँ।
 
बेनामी उपयोगकर्ता