"अवकलज" के अवतरणों में अंतर

3,422 बैट्स् जोड़े गए ,  5 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश रहित
(अवकलन#अवकलज को अनुप्रेषित)
 
{{कलन}}
#अनुप्रेषित [[अवकलन#अवकलज]]
[[चित्र:Graph of sliding derivative line.gif|right|thumb|400px|एक वक्र के विभिन्न बिन्दुओं पर प्रवणता (स्लोप) वास्तव में उस बिन्दु पर '''x''' के सापेक्ष '''y''' का मान बढ़ने की दर के बराबर होता है।]]
 
किसी चर राशि के किसी अन्य चर राशि के सम्बन्ध में तत्कालिक बदलाव के दर की गणना को '''अवकलन''' (Differentiation) कहते हैं तथा इस क्रिया द्वारा प्राप्त दर को '''अवकलज''' (Derivative) कहते हैं।
 
किसी [[फलन]] के किसी चर रासि के साथ बढ़ने की दर को मापता है। जैसे यदि कोई फलन y किसी चर रासि x पर निर्भर है और x का मान x1 से x2 करने पर y का मान y1 से y2 हो जाता है तो (y2-y1)/(x2-x1) को y का x के सन्दर्भ में अवकलज कहते हैं। इसे dy/dx से निरूपित किया जाता है। ध्यान रहे कि परिवर्तन (x2-x1) सूष्म से सूक्ष्मतम (tend to zero) होना चाहिये। इसीलिये [[सीमा (गणित)|सीमा]] (limit) का अवकलन में बहुत महत्वपूर्ण स्थान है। किसी वक्र (curve) का किसी बिन्दु पर प्रवणता (slope) जानने के लिये उस बिन्दु पर अवकलज की गणना करनी पड़ती है।
 
; परिभाषा
फलन ''ƒ'' का बिन्दु ''a'' पर अवकलज निम्नलिखित [[सीमा (गणित)|सीमा]] के बराबर होता है (बशर्ते सीमा का अस्तित्व हो) -
 
:<math>f'(a)=\lim_{h\to 0}{f(a+h)-f(a)\over h}</math>
 
यदि सीमा का अस्तित्व है तो ''ƒ'' बिन्दु ''a'' पर '''अवकलनीय''' कहलाता है।
 
; उदाहरण
d/dx ([[त्रिकोणमितीय फलन|ज्या]](x)) = [[त्रिकोणमितीय फलन|कोज]](x)
 
d/dx (कोज (x)) = - ज्या (x)
 
[[समाकलन]] और अवकलन एक दूसरे के व्युत्क्रम क्रियायें (inverse operations) हैं।
 
== इन्हें भी देखें ==
* [[सीमा]]
* [[सतत फलन]]
* [[अवकल गणित]]
* [[अवकलजों की सूची]]
 
== बाहरी कड़ियाँ ==
* [http://www.ugrad.math.ubc.ca/coursedoc/math100/notes/derivative/trig2.html Derivatives of Trigonometric functions], UBC
* [http://calculus.solved-problems.com/category/derivative/ Solved Problems in Derivatives]
 
[[श्रेणी:कैलकुलस]]
[[श्रेणी:गणित]]
[[श्रेणी:कलन]]
 
{{विज्ञान-आधार}}