"जैन धर्म में भगवान" के अवतरणों में अंतर

Added new section - panch parameshthi corresponding to english wikipedia page.
(सुधार)
(Added new section - panch parameshthi corresponding to english wikipedia page.)
 
भूक, प्यास, बुढापा, रोग, जन्म, मरण, भय, घमण्ड, राग, द्वेष, मोह, निद्रा, पसीना आदि २८ दोष नहीं होते वही वीतराग देव कहें जाते हैं।{{sfn|जलज|२००६|प=८}}
 
==पंच परमेष्ठी==
{{मुख्य|पंच परमेष्ठी}}
जैन धर्म में, '''पंच परमेष्ठी''' धार्मिक अधिकारियों का पंच पदानुक्रम हैं, जो पूजनीय हैं। वे पाँच सर्वोच्च जीव निम्नलिखित हैं -
# ''[[अरिहंत]]''
# ''[[सिद्ध (जैन)|सिद्ध]]
# ''[[आचार्य (जैन)|आचार्य]] (मुनि संघ के प्रमुख)
# ''[[उपाध्याय (जैन)|उपाध्याय]]'' (मनीषी गुरु)
# ''[[जैन मुनि|मुनि]]''
 
== केवली ==
3,369

सम्पादन