"बिहार का मध्यकालीन इतिहास" के अवतरणों में अंतर

→‎बौद्ध विहार: छोटा सा सुधार किया।
छो (बॉट: दिनांक लिप्यंतरण और अल्पविराम का अनावश्यक प्रयोग हटाया।)
(→‎बौद्ध विहार: छोटा सा सुधार किया।)
टैग: मोबाइल एप सम्पादन
बख्तियार खिलजी ने १२०० ई. में नालन्दा और औदन्तपुरी विश्‍वविद्यालय को नष्ट कर दिया। १२०३ ई. मेंं कुतुबुद्दीन ऐबक ने बख्तियार खिलजी को जीते हुए प्रदेशों का अधिकार प्रदान कर दिया। फलतः खिलजी ने औदन्तपुरी पर विजय कर अपनी राजधानी लखनौती में बनाई।
 
१२०४ ई. के बाद बख्तियार खिलजी ने मिथिला के कर्नाट शासक नरसिंह देव के खिलाफ आक्रमण करके उसे भी अधिकार में कर लिया। इसके बाद बख्तियार खिलजी ने बंगाल एवं असोम क्षेत्र में आक्रमण किये। फलतः वह बीमार हो गया। उसी दौरान अलीमर्दन खिलजी ने उसकी हत्या कर दी। उसका शव बिहार लाकर शरीफ के इमादपुर मुहल्ला में दफना दिया गया।
 
== ममलूक वंश ==
बेनामी उपयोगकर्ता