"भारवि": अवतरणों में अंतर

4 बाइट्स जोड़े गए ,  6 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश नहीं है
No edit summary
टैग: यथादृश्य संपादिका मोबाइल संपादन मोबाइल वेब संपादन
किया गया है। इसकी भाषा उदात्त एवं हृदय भावों को प्रकट करने वाली है।
प्रकृति के दृश्यों का वर्णन भी अत्यन्त मनोहारी है। भारवि ने केवल एक
अक्षर ‘न’ वाला श्लोक लिखकर अपनी काव्य चातुरी का परिचय दिया है।है।good
 
== इन्हें भी देखें==
गुमनाम सदस्य