"हिन्दी दिवस का इतिहास" के अवतरणों में अंतर

→‎1918 के बाद: विस्तार
(Reverted to revision 3023353 by ज्हाझक्हाक्रुब्हो: अनावश्यक कड़ी व चित्र .)
(→‎1918 के बाद: विस्तार)
 
==1918 के बाद==
स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद हिन्दी को राष्ट्रभाषा का दर्जा दिलाने के लिए [[काका कालेलकर]], [[मैथिलीशरण गुप्त]], [[हजारी प्रसाद द्विवेदी]], [[सेठ गोविन्ददास]] आदि लोगों ने बहुत से प्रयास किए। जिसके चलते इन्होंने दक्षिण भारत की कई यात्राएँ भी की।<ref>{{cite news|title=हिन्दी दिवस विशेष: इनके प्रयास से मिला था हिन्दी को राष्ट्रभाषा का दर्जा|url=http://www.patrika.com/news/jabalpur/know-hindi-had-the-status-of-national-language-1398330/|accessdate=14 सितम्बर 2016|date=13 सितम्बर 2016|publisher=पत्रिका|location=जबलपुर}}</ref>
 
==हिन्दी दिवस की शुरुआत==