"गुरुग्राम जिला" के अवतरणों में अंतर

73 बैट्स् जोड़े गए ,  4 वर्ष पहले
fixed typo; removed self-link to this page itself; added citation needed tags; fixed punctuation
छो (ShriSanamKumar ने गुड़गांव जिला पृष्ठ गुड़गाँव जिला पर स्थानांतरित किया: better punctuation)
(fixed typo; removed self-link to this page itself; added citation needed tags; fixed punctuation)
| longd= 77.03
| प्रदेश = हरियाणा
| जिला = [[गुड़गाँव]]
| शासक पद = [[महापौर]]
| शासक का नाम =
}}
 
'''गुड़गांवगुड़गाँव''', [[भारत|भारतीय]] राज्य [[हरियाणा]] का छठा सबसे बड़ा शहर है। यह हरियाणा के ४ प्रमण्डलों में से भी एक है। गुडगाँव हरियाणा का ओद्योगिक और वितीय केंद्र है। गुडगाँव,गुड़गाँव भारत की राजधानी [[दिल्ली]] से ३० किलोमीटर, द्वारका से १० किलोमीटर, चंडीगढ़ से २६८ किलोमीटर दूर है। गुडगाँवगुड़गाँव दिल्ली के चार प्रमुख उपग्रह शहरो में से एक है और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र का एक हिस्सा है। गुडगाँवगुड़गाँव दिल्ली से राष्ट्रीय राजमार्ग और दिल्ली मेट्रो के माध्यम से सीमा साँझा करता है।
 
गुडगाँवगुड़गाँव का भारत में प्रति व्यक्ति आय में चंडीगढ़ और मुंबई के बाद तीसरा स्थान है। गुडगाँव भारत का एकमात्र पहला एसा शहर है जिसके प्रतेक घर में बिजली की पूर्ति होती है। बिज़नस टुडे मैगज़ीन के द्वारा गुडगाँवगुड़गाँव को भारत में रहने के लिए ११ स्थान प्राप्त है। पिछले २५ सालो में गुडगाँव ने बहुत तेजी से प्रगति की है और अपने आप को दुनिया के नक़्शे पर स्थापित किआ है।
 
=== व्युत्पत्ति ===
गुडगाँवगुड़गाँव का नाम हिन्दू ग्रंथो में भी मिलता है। गुडगाँवगुड़गाँव गाँव, जो की शहर के एकदम मध्य मैं है, गुरु द्रोणाचार्य का गाँव है। यही पर गुरु द्रोणाचार्य ने पांडवो और कोरवो को शिक्षा दी थी। पांडव और कोरव्, हिन्दू ग्रन्थ महाभारत के पात्र है। गुडगाँव का पुराणिक नाम गुरुग्राम है, अर्थात गुरु (द्रोणाचार्य) का ग्राम | गुरु द्रोणाचार्य को गुरुग्राम पांड्वो और कोरवो ने उपहार स्वरुप दिया था, जो की ऋषि भरद्वाज के पुत्र थे। महाभारत में दर्शाया गया कुआ, जिसमे पांडवो और कोरवो की गेंद चली गई थी, अभी भी गुरु द्रोणाचार्य कॉलेज के अन्दर मोजूद है।
 
=== इतिहास ===
२००१ की भारत की जनगणना के अनुसार गुड़गांव की जनसंख्या २,२८,८२० है। भारत की राजधानी [[दिल्ली]] से अपनी निकटता के कारण गुड़गांव ने पिछले दशक के दौरान बड़े पैमाने पर तरक्की की है। गुड़गांव के विकसित होने मे उसका एक प्रमुख आउटसोर्सिंग गंतव्य होना व उत्तरी भारत में अचल संपत्ति बाजार के रूप में उभरना भी एक मुख्य कारण है।
 
प्राचीन हिंदू पौराणिक कथाओं में गुड़गांव का उल्लेख एक महत्वपूर्ण नगर के रूप मे मिलता है। यह दिल्ली के चार प्रमुख उपनगरों मे से एक है इसलिए इसे भारत के राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र का एक हिस्सा माना जाता है। गुड़गांवगुड़गाँव को राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र का एक सबसे अभिजात्य क्षेत्र भी एक माना जाता है। पिछले कुछ वर्षों में शहर का अत्यधिक विकास हुआ है तथा देश के भीतर एक आउटसोर्सिंग गंतव्य के रूप में विकसित होने के अतिरिक्ति इस क्षेत्र ने एक अचल संपत्ति मे आया एक अभूतपूर्व उछाल देखा है।
 
== इतिहास ==
गुड़गाँव की स्थापना 15 अगस्त 1979 ई. को की गई थी। महाभारत काल में राजा युधिष्ठिर ने गुड़गाँव को अपने धर्मगुरु द्रोणाचार्य को उपहार स्वरूप दिया था और आज भी उनके नाम पर एक तालाब के भग्नावशेष तथा एक मंदिर प्रतीक के तौर पर विद्यमान हैं। इस कारण इसका नाम गुरुगांव'''''गुरुगाँव''''' पड़ा था। बाद में समय के साथ इसका नाम गुडगांव'''''गुड़गाँव''''' हो गया।
 
गुड़गाँव की स्थापना 15 अगस्त 1979 ई. को की गई थी। महाभारत काल में राजा युधिष्ठिर ने गुड़गाँव को अपने धर्मगुरु द्रोणाचार्य को उपहार स्वरूप दिया था और आज भी उनके नाम पर एक तालाब के भग्नावशेष तथा एक मंदिर प्रतीक के तौर पर विद्यमान हैं। इस कारण इसका नाम गुरुगांव पड़ा था। बाद में समय के साथ इसका नाम गुडगांव हो गया।
 
== कृषि और खनिज ==
 
गेहूँ, तिलहन, बाजरा, ज्वार और दलहन महत्त्वपूर्ण फ़सलें हैं।
 
 
== यातायात और परिवहन ==
यह शहर दिल्ली से 30 किलोमीटर दक्षिण-पश्चिम में दिल्ली-[[जयपुर]] राजमार्ग पर स्थित है।
 
'''== पर्यटन =='''''
हरियाणा राज्य में स्थित गुड़गाँव बहुत ही ख़ूबसूरत स्‍थान है।{{cn}} गुड़गाँव पर्यटन का आकर्षक स्थल है। गुड़गाँव में शीतला माता का मन्दिर बहुत प्रसिद्ध है।{{cn}} देश-विदेश से पर्यटक शीतला माता की पूजा करने के लिए यहां आते हैं। शीतला माता के मन्दिर के अलावा भी पर्यटक यहांयहाँ पर कई पर्यटक स्थलों की सैर कर सकते हैं।
 
== जनसंख्या ==
3,369

सम्पादन