"प्रेरक" के अवतरणों में अंतर

2,700 बैट्स् जोड़े गए ,  4 वर्ष पहले
छो (अल्प चिह्न सुधार)
* ट्यूबलाइट आदि को जलाने के लिये आरम्भ में हजारों वोल्ट पैदा करने एवं जलने के बाद उससे बहने वाली धारा को सीमित रखने के लिये।
* पुरानी कारों एवं स्कूटरों आदि में स्पार्क पैदा करने के लिये (इग्नीशन क्वायल)
 
==परिपथ में प्रेरकत्व ==
=== ऊर्जा ===
प्रेरकत्व में भण्डारित ऊर्जा:
 
:<math> E_\mathrm{induttore}= W = {1 \over 2} L I^2 </math>
 
जहाँ ''I'' प्रेरक से होकर प्रवाहित धारा
और ''L'' प्रेरकत्व है।
 
=== धारा एवं वोल्टता में सम्बन्ध ===
 
:<math>v(t) = L \frac{di(t)}{dt}</math>
 
यदि प्रेरक से साइनवक्रीय I धारा बह रही हो तो, उसका वोल्टेज
 
:<math>V = I \times \omega L</math>
 
जहाँ ω का मान,
 
:<math> \omega = 2 \pi f</math>
 
जहाँ '''f''' प्रत्यावर्ती धारा की [[आवृत्ति]] है।
 
:<math>\mathbf X_L = \omega L = 2 \pi f L </math>
 
यहाँ ''X<sub>L</sub>'' को प्रेरकीय प्रतिबाधा (इंडक्टिव रिएक्टैन्स) कहते हैं।
 
प्रेरक में जब साइनाकारी विद्युत धारा बहती है तो उसकी धारा की कला, उसके सिरों के बीच विभवान्तर से ९० डिग्री पीछे होता है।
 
:<math>\mathbf Z = j \omega L = j 2 \pi f L </math>
 
=== प्रेरकों का संयोजन ===
 
प्रेरकों को समान्तर क्रम में या श्रेणीक्रम में जोड़ा जा सकता है।
nell'ipotesi che la [[mutua induzione]] tra di loro sia trascurabile, sono equivalenti ad un unico induttore con induttanza equivalente (''L''<sub>eq</sub>):
 
[[File:Inductorsparallel.png|200px|समान्तर क्रम में जुड़े हुए प्रेरकत्व]]
:<math> \frac{1}{L_\mathrm{eq}} = \frac{1}{L_1} + \frac{1}{L_2} + \cdots + \frac{1}{L_n}</math>
 
यहाँ माना गया है कि किसी भी प्रेरक का किसी दूसरे के साथ पारस्परिक प्रेरकत्व (म्युचुअल इण्डक्टैस) शून्य है।
 
[[File:Inductorsseries.png|300px|श्रेणीक्रम में जुड़े हुए प्रेरकत्व]]
 
श्रेणीक्रम में जुड़े प्रेअरकों का तुल्य प्रेरकत्व,
 
:<math> L_\mathrm{eq} = L_1 + L_2 + \cdots + L_n \,\! </math>
 
== प्रेरकत्व गणना के लिये सूत्र ==