मुख्य मेनू खोलें

बदलाव

सम्पादन सारांश रहित
 
{{स्रोतहीन|date=जुलाई 2016}}
'''भारतीय दण्ड संहिता''' (Indian Penal Code, IPC) भारत के अन्दर (जम्मू एवं काश्मीर को छोडकर) भारत के किसी भी नागरिक द्वारा किये गये कुछ अपराधों की परिभाषा व दण्ड का प्रावधान करती है। किन्तु यह संहिता भारत की सेना पर लागू नहीं होती। [[जम्मू एवं कश्मीर]] में इसके स्थान पर [[रणबीर दण्ड संहिता]] (RPC) लागू होती है।
 
भारतीय दण्ड संहिता ब्रिटिश काल में सन् १८६२ में लागू हुई। इसके बाद इसमे समय-समय पर संशोधन होते रहे (विशेषकर भारत के स्वतन्त्र होने के बाद)। [[पाकिस्तान]] और [[बांग्लादेश]] ने भी भारतीय दण्ड संहिता को ही लागू किया। लगभग इसी रूप में यह विधान तत्कालीन अन्य ब्रिटिश उपनिवेशों ([[बर्मा]], [[श्रीलंका]], [[मलेशिया]], [[सिंगापुर]], [[ब्रुनेई]] आदि) में भी लागू की गयी थी।
 
 
== संरचना ==
भारतीय दण्ड संहिता १८६० कुल २३ अध्यायों में विभाजित है। इसमें कुल ५११ धाराएँ (sections) हैं। इसकी रूपरेखा निम्नलिखित सारणी में दी गयी जा रही है<ref>
B.M.Gandhi. Indian Panel Code (Paper Back) (2013 ed.). EBC. pp. 1–832. ISBN 81-7012-892-7.</ref>
 
== दण्ड संहिता ==
{| class="wikitable" border="44"
|-
|-
|}
 
==सन्दर्भ==
{{टिप्पणीसूची}}
 
== इन्हें भी देखें ==