"कश्मीर का इतिहास" के अवतरणों में अंतर

126 बैट्स् जोड़े गए ,  3 वर्ष पहले
चौदहवीं शताब्दी में यहां मुस्लिम शासन आरंभ हुआ। उसी काल में फारस से से सूफी इस्लाम का भी आगमन हुआ।
यहां पर ऋषि परम्परा, त्रिखा शास्त्र और सूफी इस्लाम का संगम मिलता है, जो कश्मीरियत का सार है। भारतीय लोकाचार की सांस्कृतिक प्रशाखा कट्टरवादिता नहीं है।
[[Image:Sun temple martand indogreek.jpg|thumb|मार्तण्ड मन्दिर (सूर्य मंदिर)]]
 
राज-- वंशावली:
*[[प्रवरसेन]]