"वर्षावन" के अवतरणों में अंतर

6 बैट्स् नीकाले गए ,  3 वर्ष पहले
सुधार और सफाई, replaced: ). → )।
छो (बॉट: दिनांक लिप्यंतरण और अल्पविराम का अनावश्यक प्रयोग हटाया।)
(सुधार और सफाई, replaced: ). → )।)
 
भूमि स्तर पर सूर्य का प्रकाश न पहुंच पाने के कारण वर्षावनों के कई क्षेत्रों में बड़े वृक्षों के नीचे छोटे पौधे और झाड़ियां बहुत कम उग पाती हैं। इस से जंगल में चल पाना संभव हो जाता है। यदि [[पत्ती|पत्तों]] के वितानावरण को काट दिया जाए या हलका कर दिया जाए, तो नीचे की जमीन जल्दी ही घनी उलझी हुई बेलों, झाड़ियों और छोटे-छोटे पेड़ों से भर जाएगी, जिसे जंगल कहा जाता है। दो प्रकार के वर्षावन होते हैं, [[उष्णकटिबंधीय वर्षावन]] तथा [[समशीतोष्ण वर्षावन]]।
 
 
== उष्णकटिबंधीय ==
विश्व के अनेक वर्षावन मानसून के कम दबाव के क्षेत्र वाले स्थानों से संबद्ध हैं, जिन्हें अंतर-उष्णकटिबंधीय संसृति क्षेत्र के नाम से भी जाना जाता है।<ref>होब्गूड (2008). [http://geog-www.sbs.ohio-state.edu/courses/G230/hobgood/ASP230Lecture24.ppt सतह दबाव और हवा की ग्लोबल पैटर्न.] ओहियो स्टेट यूनिवर्सिटी. 08-03-2009 को पुनःप्राप्त.</ref> उष्णकटिबंधीय''' वर्षावन''' वे वर्षावन हैं, जो उष्ण कटिबंधों में स्थित हैं और [[जमैका]] के पास
([[कर्क रेखा]] एवं [[मकर रेखा]] के बीच) पाए जाते हैं और [[दक्षिण पूर्व एशिया]] ([[म्यान्मार|म्यांमार]] से [[फ़िलीपीन्स|फिलीपींस]], [[इण्डोनेशिया|इंडोनेशिया]], [[पापुआ न्यू गिनी]] और पूर्वोत्तर [[ऑस्ट्रेलिया]]), [[श्रीलंका]], [[कैमरुन|कैमरून]] से [[कांगो लोकतान्त्रिक गणराज्य|कांगो]] [[कांगो नदी|(कांगो वर्षावन]]) तक [[उप-सहारा अफ़्रीका|उप-सहारा अफ्रीका]], [[दक्षिण अमेरिका]] (जैसे [[अमेज़न वर्षावन|अमेजन वर्षावन]]), [[मध्य अमेरिका]] (जैसे बोसावास, दक्षिणी [[युकाटेन प्रायद्वीप]] - [[एल-पेटेन]]-[[बेलीज]]-[[कैलैकमुल]]) और कई [[प्रशांत द्वीप समूह]] (जैसे [[हवाई]]) में मौजूद हैं।
 
 
 
 
उष्णकटिबंधीय वर्षावनों को "पृथ्वी के [[फेफड़ा|फेफड़े]]" कहा गया है हालांकि यह ज्ञात है कि अब [[प्रकाश-संश्लेषण|प्रकाश संश्लेषण]] के माध्यम से वायुमंडल को शुद्ध [[ऑक्सीजन]] प्रदान करने में वर्षावनों का योगदान कम ही है।<ref>ब्रोकर, वालेस एस. (2006). "ब्रीदिंग इजी: Et tu, O<sub>2</sub>." कोलंबिया विश्वविद्यालय [http://www.columbia.edu/cu/21stC/issue-2.1/broecker.htm Columbia.edu]</ref><ref>मोरन, एफ.ई., [http://dx.doi.org/10.1007/BF00890069 "ब्राजील के अमेज़न में वनों की कटाई और भूमि का प्रयोग,"] मानव पारिस्थितिकीय, खंड 21, संख्या 1, 1993"</ref>{{-}}
[[चित्र:Temperate rainforest map.svg|thumb|right|समशीतोष्ण वर्षावन के जनरल वितरण.]]
{{Main|Temperate rainforest}}
'''समशीतोष्ण वर्षावन''' वे वर्षावन हैं जो समशीतोष्ण क्षेत्रों में हैं। वे [[उत्तर अमेरिका|उत्तरी अमेरिका]] (उत्तर पश्चिमी प्रशांत में, ब्रिटिश कोलंबिया कोस्ट में और प्रिंस जॉर्ज के पूर्व में रॉकी माउंटेन ट्रेंच का अंतःस्थलीय वर्षावन), [[यूरोप]] में (ब्रिटिश द्वीप समूह जैसे आयरलैंड के तटीय क्षेत्र, [[स्कॉटलैंड]], दक्षिणी [[नॉर्वे|नार्वे]], एड्रियाटिक तट के साथ-साथ पश्चिमी [[बाल्कन]] के कुछ भाग और [[स्पेन]] के पश्चिमोत्तर में, तथा [[जॉर्जिया]] और [[तुर्की]] के तटीय क्षेत्रों सहित, [[कृष्ण सागर|काले सागर]] के तटीय क्षेत्रों में, पूर्वी एशिया में (दक्षिणी चीन में, [[ताइवान]], [[जापान]] और [[कोरिया]] के बड़े भाग में और सखालिन द्वीप पर तथा रूस के सुदूर पूर्वी तट), [[दक्षिण अमेरिका]] (दक्षिणी [[चिली]]) और [[ऑस्ट्रेलिया]] तथा [[न्यूज़ीलैण्ड|न्यूजीलैंड]] में भी पाए जा सकते हैं।
 
 
{{-}}
 
== परतें ==
एक उष्णकटिबंधीय वर्षावन आम तौर से चार मुख्य परतों में विभाजित होता है, निर्गत (इमर्जेंट), वितानावरण (कैनोपी), निम्नस्थ वन-वितान (अंडरस्टोरी) तथा वनस्थल (फॉरेस्ट फ्लोर), प्रत्येक में उस क्षेत्र विशेष के साथ अनुकूलन कर पाने वाले भिन्न पौधे और जीव पाए जाते हैं।
 
=== निर्गत (इमर्जेंट) परत ===
पूरी 20वीं शताब्दी के दौरान उष्णकटिबंधीय और समशीतोष्ण वर्षावनों में पेड़ों की कटाई तथा कृषि हेतु उनकी सफाई होती रही है और दुनिया भर में वर्षावनों के क्षेत्र सिकुड़ते रहे हैं।<ref>[http://web.archive.org/web/20081204095313/http://www.independent.co.uk/environment/entire-rainforests-set-to-disappear-in-next-decade-585840.html अगले दशक तक पूरा वर्षावन गायब होने को तैयार है], द इंडीपेंडेंट</ref> जीव विज्ञानियों ने अनुमान लगाया है कि वर्षावनों के विनाश के साथ उनके निवास स्थान हटाये जाने के कारण बड़ी संख्या में प्रजातियों को विलुप्त होने के लिए मजबूर किया जा रहा है (संभवतः 50,000 प्रति वर्ष से अधिक; हार्वर्ड विश्वविद्यालय के ईओ विल्सन कहते हैं कि इस गति से तो 50 वर्ष के अंदर पृथ्वी पर समस्त प्रजातियों की एक चौथाई या अधिक समाप्त हो जाएंगी)।<ref>[http://query.nytimes.com/gst/fullpage.html?res=9E0CE1DB163CF930A35750C0A964958260 भारी प्रजाति की कमी को रोकने के लिए वार्ता कोशिश करता है], न्यूयॉर्क टाइम्स</ref>.
 
वर्षावनों के ह्रास का एक अन्य कारक शहरी क्षेत्रों का विस्तार है। जीवन शैली में आमूल परिवर्तन की मांग को पूरा करने के लिए हो रहे रिबन विकास के कारण, पूर्वी [[ऑस्ट्रेलिया]] के तटीय क्षेत्रों में विकसित हो रहे तटवर्ती वर्षावन, अब दुर्लभ हो गए हैं।<ref>[http://www.pittwater.nsw.gov.au/environment/plants__and__animals/threatened_species/endangered_ecological_communities/littoral_rainforest लिटोरल वर्षावन-यह धमकी क्यों है?]</ref>
 
 
जंगलों को तीव्र गति से नष्ट किया जा रहा है।<ref>[http://www.independent.co.uk/news/people/thomas-marent-out-of-the-woods-417858.html थॉमस मैरेंट: आउट ऑफ़ द वुड्स], द इंडीपेंडेंट</ref><ref>[http://www.foxnews.com/story/0,2933,430401,00.html ब्राजील: अमेज़न वन विनाश का दर तीन गुना है], FOXNews.com, 29 सितंबर 2008</ref><ref>[http://news.mongabay.com/2008/0602-png.html पापुआ न्यू गिनी के वर्षावन सोंच से भी पहले गायब हो रहे हैं]</ref> पश्चिम अफ्रीका के वर्षावन का लगभग 90 प्रतिशत नष्ट कर दिया गया है।<ref>[http://www.csupomona.edu/~admckettrick/projects/ag101_project/html/size.html वर्षावन और कृषि]</ref> 2000 वर्ष पूर्व मनुष्य के आगमन से अब तक, [[मेडागास्कर]] ने अपने दो तिहाई मूल वर्षावन खो दिए हैं।<ref>[http://www.newscientist.com/article/mg12617173.000-science-satellite-monitors-madagascars-shrinkingrainforest-.html विज्ञान: मॉनिटर, मेडागास्कर के सिकुड़ते हुए वर्षावन को उपग्रह ने अनुश्रवण किया, 19 मई 1990, न्यू साइंटिस्ट]</ref> वर्तमान गति से, [[इण्डोनेशिया|इंडोनेशिया]] में उष्णकटिबंधीय वर्षावन 10 वर्ष में काट दिए जायेंगे और [[पापुआ न्यू गिनी]] में 13 से 16 वर्षों में।<ref>[http://www.asianews.it/index.php?l=en&amp;art=5728 एशिया के वनों की कटाई का काला छेद चीन है], AsiaNews.it, 24 मार्च 2008</ref>
=== आगे पढ़ें ===
* बटलर, आर.ए. (2005) ''अ प्लेस आउट ऑफ़ टाइम: ट्रॉपिकल रेनफॉरेस्ट एंड द पेरिल्स दे फेस'' . ऑनलाइन प्रकाशित: [http://rainforests.mongabay.com Rainforests.mongabay.com]
* रिचर्ड्स, पी.डब्लू. (1996). ''द ट्रॉपिकल रेन फॉरेस्ट'' . 2न्ड एड. कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी प्रेस ISBN 0-521-42194-2
* व्हिटमोर टी.सी. (1998) ''एन इंट्रोडक्शन टू ट्रॉपिकल रेन फॉरेस्ट'' 2न्ड एड. ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी प्रेस. ISBN 0-19-850147-1