मुख्य मेनू खोलें

बदलाव

छो
बॉट: आंशिक लिप्यंतरण
[[चित्र:UA93 path.svg|thumb|right|11 सितंबर को दक्षिणी पेंसिल्वेनिया में दुर्घटनाग्रस्त होने के पहले फ्लाइट 93 का पथ.]]
 
11 सितम्बर 2001 को जल्दी सवेरे, [[बोस्टन, मसाचुएट्स|बोस्टन]], नेवार्क और [[डिस्ट्रिक्ट ऑफ कोलंबिया|वॉशिंगटन डी॰सी॰]] (वॉशिंगटन डलेस अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा) से [[सैन फ्रांसिस्को]] तथा लॉस एंजिल्स जा रहे चार वाणिज्यिक विमानों पर उन्नीस अपहरणकर्ताओं ने कब्जे में ले लिया।<ref name="SecCounc">{{Cite web|title=Security Council Condemns, 'In Strongest Terms', Terrorist Attacks on the United States|publisher=Unitedसंयुक्त Nationsराष्ट्र|date=सितंबर 12, 2001| url=http://www.un.org/News/Press/docs/2001/SC7143.doc.htm|accessdate=September 11, 2006|quote=The Security Council today, following what it called yesterday’s "horrifying terrorist attacks" in New York, Washington, D.C., and Pennsylvania, unequivocally condemned those acts, and expressed its deepest sympathy and condolences to the victims and their families and to the people and Government of the United States.}}</ref> प्रातः 8:46 बजे, अमेरिकी एयरलाइंस की फ्लाइट 11 वर्ल्ड ट्रेड सेंटर के नॉर्थ टॉवर से जा टकराई, इसके बाद प्रातः 9:03 बजे यूनाइटेड एयरलाइंस की फ्लाइट 175 साउथ टॉवर से टकराई।<ref>{{Cite web|url=http://www.ntsb.gov/info/Flight_%20Path_%20Study_AA11.pdf |title=Flight Path Study – American Airlines Flight 11 |publisher=National Transportation Safety Board |date=फ़रवरी 19, 2002 |format=PDF}}</ref><ref>{{Cite web|url=http://www.ntsb.gov/info/Flight_%20Path%20_Study_UA175.pdf |title=Flight Path Study – United Airlines Flight 175 |publisher=National Transportation Safety Board |date=फ़रवरी 19, 2002 |format=PDF}}</ref>
 
अपहरणकर्ताओं के एक अन्य समूह ने प्रातः 9:37 बजे अमेरिकन एयरलाइंस फ्लाइट 77 को [[पेंटागन]] में टकरा दिया।<ref>{{Cite web|url=http://www.ntsb.gov/info/Flight_%20Path_%20Study_AA77.pdf |title=Flight Path Study – American Airlines Flight 77 |publisher=National Transportation Safety Board |date=फ़रवरी 19, 2002 |format=PDF}}</ref> एक चौथाई उड़ान, यूनाइटेड एयरलाइंस फ्लाइट 93 विमान पर सवार यात्रियों और अपहरणकर्ताओं के बीच लड़ाई के बाद प्रातः 10:03 बजे, पेंसिल्वेनिया में शैंक्सविले के निकट दुर्घटनाग्रस्त हो गई। माना जाता है कि इसका अंतिम लक्ष्य या तो कैपिटल (संयुक्त राज्य अमेरिका कांग्रेस का बैठक स्थल) या [[व्हाइट हाउस]] था।<ref name="Chap7">{{Cite book|chapter=The Attack Looms |url=http://govinfo.library.unt.edu/911/report/911Report_Ch7.htm |year=2004 |title=9/11 Commission Report |publisher=National Commission on Terrorist Attacks Upon the United States |accessdate=July 2, 2008}}</ref><ref>{{Cite web|url=http://www.ntsb.gov/info/Flight%20_Path_%20Study_UA93.pdf |title=Flight Path Study – United Airlines Flight 93 |publisher=National Transportation Safety Board |date=फ़रवरी 19, 2002 |format=PDF}}</ref>
वरिष्ठ नीति कर्मचारी स्टीफन कैम्बोन द्वारा लिखे गए नोट के अनुसार, 11 सितम्बर दोपहर में 2:40 बजे, रक्षा सचिव डोनाल्ड रम्सफेल्ड इराकी भागीदारी के सबूत ढूंढने के लिए अपने सहयोगियों को तेजी से आदेश जारी कर रहे थे। "उत्तम जानकारी जल्दी. फैसला करो क्या एस.एच. (S.H.) पर वार के लिए पर्याप्त है" - मतलब है सद्दाम हुसैन - "एक ही समय में. सिर्फ यूबीएल (UBL) नहीं" (ओसामा बिन लादेन), कैम्बोन के नोट्स में रम्सफेल्ड को कहते हुए उद्धृत किया गया है। "तेज चलने की जरूरत है - नजदीकी छोटे लक्ष्य रखो - बड़े पैमाने पर जाओ - सब समेट लो. बातें संबंधित हों या नहीं."<ref name="IraqSuspect">{{Cite news|first=Joel |last=Roberts |title=Plans For Iraq Attack Began On 9/11 |date=सितंबर 4, 2002 |publisher=CBS News |url =http://www.cbsnews.com/stories/2002/09/04/september11/main520830.shtml |accessdate = October 7, 2009}}</ref><ref>{{Cite news|first=Julian |last=Borger |title=Blogger bares Rumsfeld's post 9/11 orders |date=फ़रवरी 24, 2006 |publisher=Guardian News and Media Limited |url =http://www.guardian.co.uk/world/2006/feb/24/freedomofinformation.september11 |accessdate = October 7, 2009|location=London}}</ref>
 
[[नाटो|नाटो (NATO)]] परिषद ने घोषणा की कि संयुक्त राज्य अमेरिका पर हमले सभी नाटो देशों पर हमले माने गए थे और, इसलिए, नाटो (NATO) चार्टर के अनुच्छेद 5 के अनुरूप है।<ref>{{Cite web|title = Statement by the North Atlantic Council |publisher = NATO |date=सितंबर 15, 2001 |url = http://www.nato.int/docu/pr/2001/p01-124e.htm |accessdate = September 8, 2006 |quote="Article 5: The Parties agree that an armed attack against one or more of them in Europe or North America shall be considered an attack against them all and consequently they agree that, if such an armed attack occurs, each of them, in exercise of the right of individual or collective self-defence recognised by Article 51 of the Charter of the Unitedसंयुक्त Nationsराष्ट्र, will assist the Party or Parties so attacked by taking forthwith, individually and in concert with the other Parties, such action as it deems necessary, including the use of armed force, to restore and maintain the security of the North Atlantic area. / Any such armed attack and all measures taken as a result thereof shall immediately be reported to the Security Council. Such measures shall be terminated when the Security Council has taken the measures necessary to restore and maintain international peace and security."}}</ref> ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री [[जाह्न हावर्ड|जॉन हॉवर्ड]] जो हमले के समय अमेरिका के अधिकृत दौरे पर थे, ने ऑस्ट्रेलिया वापस पहुंच कर एनजस (ANZUS) संधि का अनुच्छेद चतुर्थ लागू कर दिया। हमलों के तत्काल बाद में, ओसामा बिन लादेन तथा अल कायदा को न्याय की दहलीज़ तक लाने और अन्य आतंकवादी नेटवर्क को पनपने से रोकने के स्पष्ट लक्ष्य के साथ बुश प्रशासन ने आतंक के विरुद्ध युद्ध घोषित कर दिया। इन लक्ष्यों को, आतंकवादियों को शरण देने और वैश्विक निगरानी और खुफिया साझेदारी में वृद्धि करने वाले देशों के खिलाफ आर्थिक और सैन्य प्रतिबंध जैसे माध्यमों से पूरा किया जाएगा।
 
अमेरिका के बाहर, आतंकवाद पर अमेरिकी वैश्विक युद्ध का दूसरा सबसे बड़ा ऑपरेशन तथा आतंकवाद से सीधे जुड़ा सबसे बड़ा ऑपरेशन, अमेरिका के नेतृत्व वाले गठबंधन द्वारा [[अफ़्गानिस्तान|अफगनिस्तान]] से [[तालेबान आन्दोलन|तालिबान]] शासन को उखाड़ फेंकना था। संयुक्त राज्य अमेरिका अपनी सैन्य तैयारी बढ़ाने वाला अकेला देश नहीं था, अन्य उल्लेखनीय उदाहरण हैं [[फ़िलीपीन्स|फिलीपीन्स]] और [[इंडोनेशिया|इण्डोनेशिया]], वे देश जिनमें इस्लामी आतंकवाद के साथ उनके अपने अंदरूनी संघर्ष हैं।<ref>{{Cite journal|author = C. S. Kuppuswamy |title = Terrorism in Indonesia : Role of the Religious Organisation |publisher = South Asia Analysis Group |date= नवम्बर 2, 2005 |url = http://www.saag.org/%5Cpapers16%5Cpaper1596.html |accessdate =July 6, 2007 |archiveurl = http://web.archive.org/web/20070611032357/http://www.saag.org/papers16/paper1596.html <!-- Bot retrieved archive --> |archivedate = June 11, 2007}}</ref><ref>{{Cite book|last=Banlaoi |first=Rommel |contribution=Radical Muslim Terrorism in the Philippines |year=2006 |title=Handbook on Terrorism and Insurgency in Southeast Asia |editor-last=Tan |editor-first=Andrew |place=London |publisher=Edward Elgar Publishing}}</ref>
दुनिया भर में जन माध्यमों और सरकारों द्वारा हमलों की निंदा की गई। दुनिया भर में, राष्ट्रों ने अमेरिका के पक्ष में समर्थन और एकजुटता की पेशकश की।<ref>{{Cite web|last=Hertzberg |first=Hendrik |title=Lost love |publisher=[[The New Yorker]] |url=http://www.newyorker.com/archive/2006/09/11/060911ta_talk_hertzberg |date=सितंबर 11, 2006 |accessdate=May 19, 2008}}</ref> अधिकांश मध्य पूर्वी देशों में नेताओं और अफगानिस्तान ने, हमलों की निंदा की। तत्काल आधिकारिक बयान "अमेरिकी काउबॉय अपने मानवता के प्रति अपराधों के फल काट रहे हैं" के साथ इराक एक उल्लेखनीय अपवाद था।<ref>{{Cite news|title=Attacks draw mixed response in Mideast |url=http://archives.cnn.com/2001/WORLD/europe/09/12/mideast.reaction/index.html |publisher=CNN.com|date=सितंबर 12, 2001|accessdate=March 30, 2007}}</ref>
 
हमलों के बाद [[अफ़्गानिस्तान|अफगानिस्तान]] के दसियों हजारों लोगों ने संयुक्त राज्य अमेरिका द्वारा प्रतिक्रिया के डर से पलायन करने का प्रयास किया। पाकिस्तान जो पहले से ही पिछले अफगान संघर्ष से कई अफगान शरणार्थियों का घर बना हुआ था, ने 17 सितंबर को अफगानिस्तान के साथ अपनी सीमा बंद कर दी. हमलों के लगभग एक महीने बाद, संयुक्त राज्य अमेरिका ने [[अल कायदा]] को शरण देने के लिए [[तालेबान आन्दोलन|तालिबान]] शासन को हटाने में अंतरराष्ट्रीय बलों के एक व्यापक गठबंधन का नेतृत्व किया।<ref>{{Cite news|title=U.S. President Bush's speech to Unitedसंयुक्त Nationsराष्ट्र |publisher=CNN |date= नवम्बर 10, 2001 |url=http://archives.cnn.com/2001/US/11/10/ret.bush.un.transcript/index.html |accessdate=April 14, 2008}}</ref> [[पाकिस्तान]] के अधिकारी अनिच्छा<ref name="dawn.com">[http://www.dawn.com/wps/wcm/connect/dawn-content-library/dawn/news/pakistan/06-musharraf-bullied-into-supporting-war-on-terror-rs-03 पाकिस्तान|मुशर्रफ आतंक के खिलाफ युद्ध के समर्थन में अभित्रस्त.] डॉन.कॉम (09-12-2009). 16-03-2010 को पुनःप्राप्त.</ref> से तालिबान के खिलाफ युद्ध में संयुक्त राज्य अमेरिका के साथ पंक्तिबद्ध हुए।<ref name="dawn.com"/> पाकिस्तान शासन ने संयुक्त राज्य अमेरिका को तालिबान ठिकानों पर हमले के लिए अपने सैन्य हवाई अड्डे और सैन्य अड्डे उपलब्ध करवाए तथा 600 से अधिक संदिग्ध अल-कायदा सदस्यों को गिरफ्तार किया, जिन्हें उसने अमेरिका को सौप दिया।<ref>{{Cite news|last = Khan |first = Aamer Ahmed |title = Pakistan and the 'key al-Qaeda' man |publisher = BBC |date= मई 4, 2005 |url = http://news.bbc.co.uk/1/hi/world/south_asia/4513281.stm |accessdate = September 8, 2006}}</ref>
 
कनाडा, चीन, ब्रिटेन, फ्रांस, रूस, जर्मनी, भारत और [[पाकिस्तान]] सहित कई देशों ने आतंकवाद विरोधी विधेयक पेश किए और अल कायदा से संबंधों के संदिग्ध व्यापारिक और निजी बैंक खातों पर रोक लगा दी गई।<ref>{{Cite web|last=Hamilton |first=Stuart |title=September 11, the Internet, and the effects on information provision in Libraries |work=68th IFLA Council and Conference |date=अगस्त 24, 2002 |url=http://www.ifla.org/IV/ifla68/papers/156-079e.pdf |format=PDF |accessdate=September 8, 2006}}</ref><ref>{{Cite web|url=http://www.g8.fr/evian/english/navigation/g8_documents/archives_from_previous_summits/kananaskis_summit_-_2002/g8_counter-terrorism_cooperation_since_september_11th_backgrounder.html |title=G8 counter-terrorism cooperation since September 11 backgrounder |accessdate=September 14, 2006 |publisher=Site Internet du Sommet du G8 d'Evian}}</ref> इटली, [[मलेशिया]], [[इण्डोनेशिया। इंडोनेशिया]] और [[फ़िलीपीन्स|फिलीपींस]] सहित अनेक देशों की कानून प्रवर्तन तथा खुफिया एजेंसियों ने दुनिया भर में उग्रवादियों के ठिकाने तोड़ने के घोषित उद्देश्य के लिए, संदिग्ध आतंकवादियों को गिरफ्तार कर लिया था।<ref>{{Cite web|last = Walsh |first = Courtney C |title = Italian police explore Al Qaeda links in cyanide plot |publisher = Christian Science Monitor |date= मार्च 7, 2002 |url = http://www.csmonitor.com/2002/0307/p07s02-woeu.html |accessdate =September 8, 2006}}</ref><ref>{{Cite news|title = SE Asia unites to smash militant cells |publisher = CNN |date= मई 8, 2002 |url=http://edition.cnn.com/2002/WORLD/asiapcf/southeast/05/07/seasia.terror.pact/ |accessdate = September 8, 2006}}</ref>
संयुक्त राज्य अमेरिका ने [[क्यूबा]] में ग्वांटानामो बे पर अवैध शत्रु लड़ाकों को रखने के लिए एक निरोध केंद्र स्थापित किया। इन नजरबंदियाँ की वैधता पर अन्यों के साथ यूरोपीय संसद, अमेरिकी राज्यों के संगठन तथा [[एमनेस्टी इंटरनेशनल]] ने प्रश्न खड़े किए हैं।<ref>{{Cite news|title=Euro MPs urge Guantanamo closure |url=http://news.bbc.co.uk/2/hi/americas/5074216.stm |publisher=बीबीसी न्यूज़ |date=जून 13, 2006 |accessdate=May 20, 2008}}</ref><ref>{{Cite web|last=Mendez |first=Juan E. |author-link=Juan E. Méndez |date=मार्च 13, 2002 |title=Detainees in Guantanamo Bay, Cuba; Request for Precautionary Measures, Inter-Am. C.H.R. |url=http://www1.umn.edu/humanrts/cases/guantanamo-2003.html |publisher=[[University of Minnesota]] |accessdate=April 14, 2008}}</ref><ref>{{Cite web|title=USA: Release or fair trials for all remaining Guantánamo detainees |url=http://www.amnesty.org/en/for-media/press-releases/usa-release-or-fair-trials-all-remaining-guant%C3%A1namo-detainees-20080502 |publisher=Amnesty International |date=मई 2, 2008 |accessdate=May 4, 2008}}</ref>
 
हमलों के तुरंत बाद हुई अंतरराष्ट्रीय घटनाओं और प्रतिक्रियाओं ने नस्लवाद के खिलाफ विश्व सम्मेलन 2001 को प्रभावित किया, जो मतभेदों और अंतरराष्ट्रीय प्रत्यारोपों के साथ तीन दिन पूर्व ही समाप्त हो गया।<ref name="Schechter">{{Cite book|pages=177–182 |title=Unitedसंयुक्त Nationsराष्ट्र Global Conferences |author=Michael G. Schechter |year=2005 |publisher=Routledge |isbn=0415343801}}</ref>
 
जैसा कि संयुक्त राज्य अमेरिका में हुआ, हमलों के बाद के माहौल ने अन्य देशों में मुसलमानों और गैर मुसलमानों के बीच जातीय तनाव में वृद्धि की।<ref>{{Cite news|url=http://news.bbc.co.uk/1/hi/uk/1551868.stm |title=UK &#124; Muslim community targets racial tension |publisher=बीबीसी न्यूज़ |date=सितंबर 19, 2001 |accessdate=September 12, 2009}}</ref>
{{-}}
 
== संदर्भसन्दर्भ ==
{{Reflist|2}}