"हंगपन दादा" के अवतरणों में अंतर

327 बैट्स् जोड़े गए ,  3 वर्ष पहले
 
==मिलिट्री सेवा==
ये 1997 में आर्मी की असम रेजीमेंट के जरिए आर्मी में शामिल हुए थे। बाद में इन्हें 35 राष्ट्रीय राइफल्स में तैनात किए गया।<ref name = bhaskar />
 
==मृत्यु==
26 मई 2016 को [[जम्मू-कश्मीर]] के कुपवाड़ा जिले के नौगाम सेक्टर में आर्मी ठिकानों का आपसी संपर्क टूट गया था। तब हवलदार हंगपन दादा को उनकी टीम के साथ भाग रहे आतंकवादियों का पीछा करने और उन्हें पकड़ने का जिम्मा सौंपा गया।
12,522

सम्पादन