"चण्डी": अवतरणों में अंतर

आकार में कोई परिवर्तन नहीं ,  5 वर्ष पहले
छो
बॉट: वर्तनी एकरूपता।
छो (टैग)
छो (बॉट: वर्तनी एकरूपता।)
{{Unref|date=जुलाई 2016}}
[[चित्र:Chandi Devi Mandir,Haridwar.JPG|अंगूठाकार|श्री चण्डी देवी का म्ंदिर हरिद्वार मे स्थितस्थित। ]]
 
काली देवी के समान ही '''चण्डी''' देवी को माना जाता है, ये कभी कभी दयालु रूप में और प्राय: उग्र रूप में पूजी जाती है, दयालु रूप में वे उमा, गौरी, पार्वती, अथवा हैमवती, जगन्माता और भवानी कहलाती है, भयावने रूप में दुर्गा, काली और श्यामा, चण्डी अथवा चण्डिका, भैरवी आदि के नाम से जाना जाता है, अश्विन और चैत्र मास की की शुक्ल प्रतिपदा से नवरात्रा में चण्डी पूजा विशेष समारोह के द्वारा मनायी जाती है।