"भारत में सामाजिक वानिकी" के अवतरणों में अंतर

आकार में कोई परिवर्तन नहीं ,  4 वर्ष पहले
छो
बॉट: वर्तनी एकरूपता।
(बिना सन्दर्भ के मूल्यांकन)
छो (बॉट: वर्तनी एकरूपता।)
'''सामाजिक वानिकी''' से अर्थ खाली पड़े स्थानों पर फलदार वृक्ष लगाने से है जिससे पर्यावरण की सुरक्षा के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार की वृद्धि हो।
राष्ट्रीय कृषि आयोग ने 1976 में ईंधन, चारा लकड़ी और छोटे-मोटे वन उत्पादों की पूर्ति करने वाले पेड़ लगाने के कार्यक्रम के लिए सामाजिक वानिकी शब्द उछाला था।गरीबों के नाम पर शुरू किए गए इस कार्यक्रम में आस पास रहने वालों के लिए व लगाना थाथा। {{cn|date=अगस्त 2016}}
 
== बाहरी कड़ियाँ ==