"राधा" के अवतरणों में अंतर

आकार में कोई परिवर्तन नहीं ,  5 वर्ष पहले
छो
बॉट: वर्तनी एकरूपता।
छोNo edit summary
छो (बॉट: वर्तनी एकरूपता।)
 
[[चित्र: Radharani3.jpg|right|thumb|250px|मुगल कला में राधा]]
श्री कृष्ण की विख्यात प्राणसखी, ब्रज धाम की रानी और वृषभानु की पुत्री है। राधा कृष्ण शाश्वत प्रेम का प्रतीक हैं। राधा की माता कीर्ति के लिए 'वृषभानु पत्नी' शब्द का प्रयोग किया जाता है। राधा को कृष्ण की प्रेमिका और कहीं-कहीं पत्नी के रुपरूप में माना जाता हैं।
[http://lord.realbhakti.com/2011/12/blog-post_28.html और अधिक पढ़ें]