"रीति काल" के अवतरणों में अंतर

12 बैट्स् जोड़े गए ,  5 वर्ष पहले
छो
बॉट: वर्तनी एकरूपता।
(Bhaskarmlnc (वार्ता) द्वारा किए बदलाव 3110480 को पूर्ववत किया, कड़ी रखने लायक नहीं है।)
छो (बॉट: वर्तनी एकरूपता।)
विद्वानों का यह भी मत हॅ कि इस काल के कवियों ने काव्य में मर्यादा का पूर्ण पालन किया है। घोर शृंगारी कविता होने पर भी कहीं भी मर्यादा का उल्लंघन देखने को नहीं मिलता है।
 
== यहइन्हें भी देखें ==
:[[हिन्दी साहित्य]]
:[[आदिकाल]]