"इलाचन्द्र जोशी" के अवतरणों में अंतर

44 बैट्स् नीकाले गए ,  4 वर्ष पहले
छो
बॉट: वर्तनी एकरूपता।
छो (बॉट: दिनांक लिप्यंतरण और अल्पविराम का अनावश्यक प्रयोग हटाया।)
छो (बॉट: वर्तनी एकरूपता।)
रचनाएँ
 
उपन्यास के अतिरिक्त इन्होंने हिन्दी साहित्य की अन्य विधाओं में भी योगदान दिया है। इन्होंने कहानियाँ भी लिखीं। इनके चर्चित कहानी संग्रह निम्नलिखित हैं-
 
कहानी
 
धूपरेखा
आहुति
खण्डहर की आत्माएँ
 
जीवनी
 
रवीन्द्रनाथ
शरद: व्यक्ति और साहित्यकार
जीवन का महान विश्लेषक विराटवादी कवि गेटे
 
आलोचनात्मक ग्रन्थ
 
साहित्य सर्जन
साहित्य चिन्तन
विश्लेषण
 
उपन्यास
जोशीजी ‘कोलकाता समाचार’, ‘चाँद’, ‘विश्ववाणी’, ‘सुधा’, ‘सम्मेलन पत्रिका’, ‘संगम’, ‘धर्मयुद्ध’ और ‘साहित्यकार’ जैसे पत्रिकाओं के सम्पादन से भी जुड़े रहे। इन्होंने बाल-साहित्य में भी उल्लेखनीय योगदान दिया। कुछ अनुवाद कार्य भी किए। इलाचन्द्र जोशी के प्रमुख उपन्यास इस प्रकार हैं-
 
घृणामयी - बाद में यही उपन्यास ‘लज्जा’ नाम से प्रकाशित हुआ। घृणामयी 1929 में प्रकाशित हुई।
लज्जा 21 वर्षों के बाद 1950 में।
संन्यासी
परदे की रानी
प्रेत और छाया
मुक्तिपथ
जिप्सी
जहाज़ का पंछी
भूत का भविष्य
सुबह
निर्वासित
ऋतुचक्र
 
अन्य कार्य