"ओदिसी" के अवतरणों में अंतर

2 बैट्स् नीकाले गए ,  3 वर्ष पहले
छो
बॉट: वर्तनी एकरूपता।
छो (बॉट: वर्तनी एकरूपता।)
[[चित्र:Odysseus Polyphemos Cdm Paris 190.jpg|200px|thumb|right|ओडेसी का प्राचीन ज़ूनानी निदर्श चित्र]]
'''ओदिसी''' ([[प्राचीन यूनानी भाषा]] : Ὀδυσσεία ''Odusseia'') , [[होमर]]कृत दो प्रख्यात यूनानी [[महाकाव्य|महाकाव्यों]] में से एक है। [[ईलियद]] में होमर ने [[ट्राजन युद्ध]] तथा उसके बाद की घटनाओं का वर्णन किया है जबकि ओदिसी में ट्राय के पतन के बाद ईथाका के राजा ओदिसियस की, जिसे यूलिसीज़ नाम से भी जाना जाता है, उस रोमांचक यात्रा का वर्णन है जिसमें वह अनेक कठिनाइयों का सामना करते हुए, 10 वर्ष बाद अपने घर पहुँचता है।
ओडेसी ई.पू. आठवीं शताब्दी में लिखी गयी है। यह कहाँ लिखी गई इस संबंध में माना जाता है कि यह इस समय के यूनान अधिकृत में सागर तट आयोनिया में लिखी गई जो अब टर्की का भाग है।<ref>{{cite book |last=Rieu |first=D.C.H. |title= ''The Odyssey''|year=२००३|publisher=पेंगुइन|location=|id= |page=''xi'' |accessday= |accessmonth= मई|accessyear=}}</ref>
 
==कथानक==
</blockquote>
 
सर्ग तेरह मे आतिथेय राजा द्वारा ओडेसियन की यात्रा के प्रबन्धन का वर्णन है। सर्ग एक्कीस मे एथनी द्वारा पिनीलोपी को स्वयंवर का सुझाव की कथा है। सर्ग 24 दुष्ट कुमारी की आत्माएँ अध यमलोक में वा उनके सम्बन्धियों द्वारा युद्ध की योजना और युद्ध प्रारम्भ होने वा अन्त में शान्ति एवं सन्धि की कथा है।
 
===संगठन===