"कांचबिंदु" के अवतरणों में अंतर

58 बैट्स् नीकाले गए ,  3 वर्ष पहले
छो
बॉट: वर्तनी एकरूपता।
छो (बॉट: अनुभाग शीर्षक एकरूपता।)
छो (बॉट: वर्तनी एकरूपता।)
{{आज का आलेख }}
{{Infobox disease |
Name = कांच बिंदु रोग|
other_name = ''ग्लौकोमा'' |
Image = Human eye cross-sectional view grayscale.png|
Caption = मानव आंख का पार-अनुभाग दृश्य |
DiseasesDB = 5226 |
ICD10 = {{ICD10|H|40||h|40}}-{{ICD10|H|42||h|40}}|
ICD9 = {{ICD9|365}} |
ICDO = |
OMIM = |
MedlinePlus = |
eMedicineSubj = oph |
eMedicineTopic = 578 |
MeshID = D005901 |
}}
'''कांच बिंदु रोग''' ([[अंग्रेज़ी]]:''ग्लूकोमा'') या [[काला मोतिया]] [[नेत्र]] का रोग है। यह रोग तंत्र में गंभीर एवं निरंतर क्षति करते हुए धीरे-धीरे दृष्टि को समाप्त ही कर देता है। किसी वस्तु से प्रकाश की किरणें आंखों तक पहुंचती हैं, व उसकी छवि दृष्टि पटल पर बनाती हैं। दृष्टि पटल (रेटिना) से ये सूचना विद्युत तरंगों द्वारा मस्तिष्क तक नेत्र तंतुओं द्वारा पहुंचाई जाती है।<ref name="इंडिया">[http://indg.in/health/diseases/systemic_diseases/906902916947902 अंधत्‍व तथा दृष्टि की क्षीणता के कारण]। इंडिया डवलपमेंट गेटवे</ref> आंख में एक तरल पदार्थ भरा होता है। इससे लगातार एक तरल पदार्थ आंख के गोले को चिकना किए रहता है। यदि यह तरल पदार्थ रुक जाए तो अंतःनेत्र दाब (इंट्राऑक्यूलर प्रेशर) बढ़ जाता है।<ref name="हिन्दुस्तान">[http://www.livehindustan.com/news/tayaarinews/gyan/67-75-100445.html ग्लूकोमा]। हिन्दुस्तान लाइव। ११ मार्च,२०१०</ref><ref name="चाणक्य">[http://chankay.blogspot.com/2009/02/blog-post_18.html ग्लूकोमा यानि काला मोतिया]। १८ फ़रवरी २००९</ref> कांच बिंदु में अंत:नेत्र पर दाब, प्रभावित आँखों की सहने की क्षमता से अधिक हो जाता है। इसके परिणामस्वरूप नेत्र तंतु को क्षति पहुँचती है जिससे दृष्टि चली जाती है। किसी वस्तु को देखते समय कांच बिंदु वाले व्यक्ति को केवल वस्‍तु का केन्‍द्र दिखाई देता है। समय बीतने के साथ स्थिति बद से बदतर होती जाती है, व व्यक्ति यह क्षमता भी खो देता है। सामान्यत:, लोग इस पर कदाचित ही ध्यान देते हैं जबतक कि काफी क्षति न हो गई हो। प्रायः ये रोग बिना किसी लक्षण के विकसित होता है व दोनों आँखों को एक साथ प्रभावित करता है। हालाँकि यह ४० वर्ष से अधिक आयु के वयस्कों के बीच में पाया जाता है, फिर भी कुछ मामलों में यह नवजात शिशुओं को भी प्रभावित कर सकता हैं।<ref name="इंडिया"/> [[मधुमेह]], [[आनुवांशिकी|आनुवांशिकता]], [[उच्च रक्तचाप]] व [[हृदय रोग]] इस रोग के प्रमुख कारणों में से हैं।<ref name="दुनिया">[http://hindi.webdunia.com/miscellaneous/health/disease/0902/18/1090218037_2.htm ग्लूकोमा यानि काला मोतिया]। वेब दुनिया</ref>