"ऑटो एक्सपो" के अवतरणों में अंतर

7,531 बैट्स् जोड़े गए ,  10 वर्ष पहले
 
==छोटी कारें==
[[टाटा मोटर्स]] की सफलता से प्रेरित होकर कई घरेलू और विदेशी कंपनियां ऑटो एक्सपो-2008 में छोटी कारों के बारे में घोषणा कीं। काफी दिनों से चर्चा में रही लखटकिया कार मेले का सबसे बड़ा आकर्षण होगी लेकिन इसके साथ ही कल - पुर्जे के सप्लायर भी प्रदर्शित किए गए।
 
ऑटो एक्सपो के इंडियन प्रीमियर में 9 जनवरी को फियेट ऑटो ग्रान्डे पुंटो और लिनिया के जरिए छोटी कार बनाने में अपने कौशल दिखाया। कंपनी दोनों कारों का निर्माण भारत में ही 2008 के अंत से आरंभ करने की योजना बना रही है। एक्सपो में कई कंपनियाँ अपनी कारों के ऐसे मॉडल लेकर आईं, जिन्हें वे भविष्य में बाजार में उतारने की योजना पर काम कर रही थीं। [[फिएट]] कंपनी भी भविष्य में लांच की जाने वाली कारों की एक लंबी श्रृंखला लेकर इस एक्सपो में आई। इसी तरह [[हुंडई]], [[महिंद्रा एंड महिंद्रा]], [[मित्सुबिशी]] जैसी कई नामी कार कंपनियाँ अपनी कारों के नए और बेहतर मॉडलों को इस एक्सपो में प्रदर्शित किया।
 
इस ऑटो एक्सपो में चार पहिया वाहनों के अलावा दोपहिया गाड़ियों को भी खास जगह दी गई। होंडा कंपनी अपनी प्रसिद्ध दोपहिया गाड़ी होंडा एक्टिवा का इंप्रूव वर्जन [[होंडा]] लीड लेकर एक्सपो में आए थे।
 
[[बजाज]], [[सुजुकी]] और [[हीरो होंडा]] जैसी कंपनियों के भी एक्सपो में कई भविष्य मॉडल थे। ये सभी कंपनियाँ अपने लोकप्रिय मॉडलों के आधुनिकतम संस्करण एक्सपो में प्रदर्शित कर गईं। लोकप्रिय बाइक कंपनी [[यामाहा]] की कई नेक्स्ट जेन शानदार बाइक भी इस एक्सपो में दिखाई दीं।
 
==रोबो मण्डप==
मेले में 7 तरह के नए और अनूठे मण्डप लगे थे। इनमें सबसे खास मण्डप रोबो मण्डप रहा। ऑटो इंडस्ट्री में रोबो नाम की मशीनों का इस्तेमाल होता है। गाड़ियों के छोटे-छोटे पुर्जे आपस में जोड़ने, वेल्डिंग, कारों में शीशे लगाने, नट-बोल्ट कसने जैसे बारीक और संजीदा कामों में रोबो मशीनों की मदद ली जाती है। ऐसी मशीनों में हाथ बने होते हैं और ये दिखने में रोबॉट जैसे लगते हैं। इसी वजह से इन्हें रोबो कहा जाता है। रोबो मण्डप में ऐसी ही मशीनों की नुमाइश की गई थी। ऑल्टरनेटिव फ्यूल (वैकल्पिक ईंधन) पर भी एक खास मण्डप होगा। इस मण्डप में ऐसे ईंधन पेश किए गए, जो जिनका इस्तेमाल दुनिया भर में डीजल और पेट्रोल के विकल्प के तौर पर होता है। इसी तरह डीजल मण्डप, कलपुर्जे से जुड़ा मण्डप और डिजाइन से संबंधित खास मण्डप थे।
 
 
==कॉन्सेप्ट कारें==
मेले में कुछ कंपनियों ने कॉन्सेप्ट कारें भी प्रदर्शित कीं। इनमें टाटा की लखटकिया कार के अलावा टाटा की एक और कॉन्सेप्ट कार थी। [[जनरल मोटर्स]] (जीएम), [[मारुति सुजूकी]] की कॉन्सेप्ट कारें भी दिखाई दी। बजाज ऑटो ने भी अपनी एक नई कमर्शल वहीकल प्रदर्शित की। इनके अलावा टीवीएस ने पहली बार अपनी विवादित बाइक फ्लेम प्रदर्शित की। मेले में पहली बार इलेक्ट्रिक वाहन भी दिखाई दिए।
 
==अंतर्राष्ट्रीय संगठनों की भागीदारी==
कई अंतर्राष्ट्रीय ऑटो संगठन इस मेले में भागीदारी कर रहे थे। इसमें पहली बार ऑर्गनाइजेशन ऑफ इंटरनैशनल कार असेंबलर्स (ओआईसीए/ओएका) ने भाग लिया। इस संगठन का मुख्यालय पैरिस में है और यह दुनिया का सबसे प्रतिष्ठित ऑटो संगठन है। ओएका ने 9वें दिल्ली ऑटो एक्सपो को अपनी मान्यता भी दी है। इस मान्यता से अंतर्राष्ट्रीय ऑटो शो में दिल्ली ऑटो एक्सपो की पहचान मजबूत होगी। ओएका के अलावा जापान का ऑटो संगठन जामा, कोरिया का कामा, एसोसिएशन ऑफ यूरोपियन कार असेंबलर्स समेत कई और ऑटो संगठनों भी मेले में सम्मिलित हुए।
 
==इन्हें भी देखें==
* [http://www.oica.net/ Organisation Internationale des Constructeurs d'Automobiles]
* [http://www.autoexpo.in/ नौवां ऑटो एक्स्पो २००८]
* [http://www.localinfo.in/automobiles/auto-expo-cars.html ऑटो एक्स्पो २००८ के चित्र]
 
==संदर्भ==
<references/>
 
[[Category:ऑटो प्रदर्शनी]]
[[Category:नई दिल्ली]]
[[Category:भारत में यातायात]]
 
[[श्रेणी:मोटर वाहन]]
[[श्रेणी:दिल्ली]]
[[श्रेणी:भारत में प्रदर्शनी]]
 
[[en:Auto Expo]]
[[ml:ഓട്ടൊ എക്സ്‌പോ]]
[[ja:ニューデリーオートエクスポ]]
[[ru:Auto Expo]]