मुख्य मेनू खोलें

बदलाव

आकार में कोई परिवर्तन नहीं, 10 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश रहित
 
==महोत्सव==
यह भारत में अब तक का सबसे बड़ा ऑटो एक्सपो रहा। 2006 के ऑटो एक्सपो के मुकाबले इसमें कई चीजों में दोगुनी बढ़ोतरी दिखाई दी थी। जैसे, 2006 के मेले में 1100 कंपनियों ने हिस्सा लिया था और २००८ में इनकी संख्या करीब 2200 रही। इसी तरह 2006 में मेला 65 हजार वर्ग मीटर में लगा था। और २००८ में इसकी जगह करीब 1 लाख 20 हजार वर्ग मीटर है। मेले में 25 से 30 नई कारें लॉन्च की गईं। यह मेला एशिया के सबसे बड़े ऑटो मेले शंघाई ऑटो शो को भी कई मामलों में टक्कर दे रहा था। इस में 27 देशों के कारोबारी प्रतिनिधि और 28 देशों की कंपनियाँ यहां सम्मिलित हुई थीं। इसमें जर्मनी और चीन की भागीदारी खास थीं।<ref name="hindimedia">
==मुख्य आकर्षण==
ऑटो एक्सपो के इंडियन प्रीमियर में 9 जनवरी को फियेट ऑटो ग्रान्डे पुंटो और लिनिया के जरिए छोटी कार बनाने में अपने कौशल दिखाया। कंपनी दोनों कारों का निर्माण भारत में ही 2008 के अंत से आरंभ करने की योजना बना रही है। एक्सपो में कई कंपनियाँ अपनी कारों के ऐसे मॉडल लेकर आईं, जिन्हें वे भविष्य में बाजार में उतारने की योजना पर काम कर रही थीं। [[फिएट]] कंपनी भी भविष्य में लांच की जाने वाली कारों की एक लंबी श्रृंखला लेकर इस एक्सपो में आई। इसी तरह [[हुंडई]], [[महिंद्रा एंड महिंद्रा]], [[मित्सुबिशी]] जैसी कई नामी कार कंपनियाँ अपनी कारों के नए और बेहतर मॉडलों को इस एक्सपो में प्रदर्शित किया।
 
==दोपहिया वाहन==
इस ऑटो एक्सपो में चार पहिया वाहनों के अलावा दोपहिया गाड़ियों को भी खास जगह दी गई। होंडा कंपनी अपनी प्रसिद्ध दोपहिया गाड़ी होंडा एक्टिवा का इंप्रूव वर्जन [[होंडा]] लीड लेकर एक्सपो में आए थे।
 
[[बजाज]], [[सुजुकी]] और [[हीरो होंडा]] जैसी कंपनियों के भी एक्सपो में कई भविष्य मॉडल थे। ये सभी कंपनियाँ अपने लोकप्रिय मॉडलों के आधुनिकतम संस्करण एक्सपो में प्रदर्शित कर गईं। लोकप्रिय बाइक कंपनी [[यामाहा]] की कई नेक्स्ट जेन शानदार बाइक भी इस एक्सपो में दिखाई दीं।
 
दोपहिया वाहन निर्माता यामाहा ने कहा है कि उसने इस साल बाइक के दो माडल आर-15 और एफजेड-150 लांच करने की योजना बनाई है।
 
यामाहा के कार्यकारी उपाध्यक्ष ताकाहिरो माएदा ने यहां कहा कि भारतीय बाजार में अपनी बिक्री बढ़ाने के लिए दो उत्पाद लांच करेंगे। आर-15 बहुत जल्दी लांच होगा जबकि एफजेड बाद में लांच किया जाएगा।
 
आटो एक्स्पो में दोनों बाइक प्रदर्शित की गई थी। कंपनी ने इस साल दो-तीन लाख बाइक बेचने की योजना बनाई है। पिछले साल कंपनी ने भारत में 1.2 लाख मोटरसाइकिल की बिक्री की थी। <ref>[http://in.jagran.yahoo.com/news/business/general/1_12_4441283.html/print/ जागरण]</ref>
==रोबो मण्डप==
मेले में 7 तरह के नए और अनूठे मण्डप लगे थे। इनमें सबसे खास मण्डप रोबो मण्डप रहा। ऑटो इंडस्ट्री में रोबो नाम की मशीनों का इस्तेमाल होता है। गाड़ियों के छोटे-छोटे पुर्जे आपस में जोड़ने, वेल्डिंग, कारों में शीशे लगाने, नट-बोल्ट कसने जैसे बारीक और संजीदा कामों में रोबो मशीनों की मदद ली जाती है। ऐसी मशीनों में हाथ बने होते हैं और ये दिखने में रोबॉट जैसे लगते हैं। इसी वजह से इन्हें रोबो कहा जाता है। रोबो मण्डप में ऐसी ही मशीनों की नुमाइश की गई थी। ऑल्टरनेटिव फ्यूल (वैकल्पिक ईंधन) पर भी एक खास मण्डप होगा। इस मण्डप में ऐसे ईंधन पेश किए गए, जो जिनका इस्तेमाल दुनिया भर में डीजल और पेट्रोल के विकल्प के तौर पर होता है। इसी तरह डीजल मण्डप, कलपुर्जे से जुड़ा मण्डप और डिजाइन से संबंधित खास मण्डप थे।