मुख्य मेनू खोलें

बदलाव

1 बैट् नीकाले गए ,  2 वर्ष पहले
छो
बॉट: वर्तनी एकरूपता।
[[प्रकाशिकी]] में, '''प्रिज़्म''' (Prism / '''संक्षेत्र''' या '''क्रकच आयत''') एक सपाट चिकनी सतहों वाला एक पारदर्शी प्रकाशीय अवयव है जो, [[प्रकाश]] का [[अपवर्तन]] करता है। कम से कम दो सपाट सतहों के मध्य एक कोण का होना अनिवार्य है। सतहों के मध्य के कोण की सटीकता उसके अनुप्रयोग पर निर्भर करती हैं। पारंपरिक रूप से संक्षेत्र उस ज्यामितीय आकार को परिभाषित करता है जिसका एक त्रिकोणीय आधार और आयताकार पक्ष होते हैं। कुछ प्रकाशीय संक्षेत्र वास्तव में एक ज्यामितीय संक्षेत्र के आकार के नहीं होते हैं। संक्षेत्रों को हर उस सामग्री से बनाया जा सकता है जो कि, उस तरंगदैर्य के लिए पारदर्शी हो जिसके लिए उन्हें तैयार किया जा रहा है। संक्षेत्रों का निर्माण मुख्यत: कांच, प्लास्टिक और फ्लुराइट से किया जाता है।
 
प्रिज़्म का प्रयोग प्रकाश को उसके संघटक वर्णक्रमीय रंगों ([[इंद्रधनुष|इंद्रधनुष के रंग]]) में तोड़ने के लिए किया जा सकता है। संक्षेत्रों को प्रकाश के [[परावर्तन]], अथवा प्रकाश के विभिन्न ध्रुवीकरण वाले संघटकों में विभाजित करने के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है।
 
==प्रिज़्म की कार्यप्रणाली ==