"फुलकारी": अवतरणों में अंतर

7 बाइट्स हटाए गए ,  5 वर्ष पहले
छो
बॉट: वर्तनी एकरूपता।
छो (बॉट: वर्तनी एकरूपता।)
छो (बॉट: वर्तनी एकरूपता।)
[[File:Patiala Phulkari.jpg|thumb|200px|right|फुलकारी]]
 
'''फुलकारी'' एक तरहां की [[कढाई]] होती है जो चुनरी /दुपटो पर हाथों से की जाती है। फुलकारी शब्द "फूल" और "कारी" से बना है जिसका मतलब फूलों की कलाकारी।
 
==कला का प्रतीक==
पुराने समय में बचपन में ही लड़कियां इस [[कला]] को सीख लेती थी और अपनी [[शादी]] के लिए [[दहेज]] बनाने लगती थी। यह [[लड़की]] की शख्शीअत की कला का प्रतीक मानी जाती थी।
==प्रयोग ==
* शादी और त्यौहार
* शगुनों के समय
* लोक दाज में लड़किओं को फुलकारियां के बाग़ देते थे।
*लांवा फेरे लेने के समय
== सन्दर्भ ==