"सुत्तपिटक": अवतरणों में अंतर

300 बाइट्स जोड़े गए ,  13 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश नहीं है
No edit summary
{{त्रिपिटक}}
'''सुत्तपिटक''' बौद्ध धर्म का एक ग्रंथ है। यह ग्रंथ त्रिपिटक का तीन भाग में से एक है। इससुत्त ग्रंथपिटक में भगवानतर्क बुद्धऔर द्वारासंवादों विभिन्नके जगहौंरूप औरमें अवसरभगवान परबुद्ध दियाके हुवासिद्धांतों उपदेशका संग्रहितसंग्रह हैहै। <ref>[http://madanpuraskar.org/mpp/view_book_info.php?id=23435इनमें पुस्तक:त्रिपिटकगद्य प्रवेशसंवाद हैं, पृष्ठमुक्तक २२,छन्द परिच्छेदहैं ३,तथा अनुवादछोटी-छोटी एवंप्राचीन संग्रहःवासुदेवकहानियाँ देसारहैं। "कोविद",यह प्रकाशक:पाँच दुर्गादासनिकायों रंजित,या ISBNसंग्रहों 99946-973-9-0]</ref>में विभक्त है।
 
<ref>[http://madanpuraskar.org/mpp/view_book_info.php?id=23435 पुस्तक:त्रिपिटक प्रवेश, पृष्ठ २२, परिच्छेद ३, अनुवाद एवं संग्रहःवासुदेव देसार "कोविद", प्रकाशक: दुर्गादास रंजित, ISBN 99946-973-9-0]</ref> ।
 
==विभाजन==