"मंडी, हिमाचल प्रदेश" के अवतरणों में अंतर

छो
बॉट: किमी. -> किलोमीटर
छो (बॉट: वर्तनी एकरूपता।)
छो (बॉट: किमी. -> किलोमीटर)
== दर्शनीय स्थल ==
=== रिवालसर झील ===
मंडी से 25 किमी.किलोमीटर की दूरी पर स्थित रिवालसर झील अपने बहते रीड के द्वीपों के लिए लो‍कप्रिय हैं। कहा जाता है कि इनमें से सात द्वीप हवा और प्रार्थना से हिलते हैं। प्रार्थना के लिए यहां एक बौद्ध मठ, हिन्‍दु मंदिर और एक सिख गुरूद्वारा बना हुआ है। इन तीनों धार्मिक संगठनों की ओर से यहां नौकायन की सुविधा मुहैया कराई जाती है। इसी स्‍थान पर बौद्ध शिक्षक पद्म संभव ने अपने एक मिशनरी को धर्मोपदेश देने के लिए नियुक्‍त किया था। यहाँ पर अनेक मनोहर स्थल है, जहाँ कई फिल्मों की शूटिंग भी हुई है। जैसे- बरसात। यह माँ नैना देवी कि तलहटी में स्थित है, तथा इस स्थान को त्रिवेणी के नाम से भी जाना जाता है।
 
=== त्रिलोकनाथ शिव मंदिर ===
 
=== सुंदरनगर ===
मंडी से 26 किमी.किलोमीटर दूर सुंदरनगर अपने मंदिरों के लिए प्रसिद्ध है। खूबसूरत हरीभरी घ‍ाटियों के इस क्षेत्र में ऊंचें ऊंचें पेड़ों की छाया में चलना बहुत की सुखद अनुभव होता है। पहाड़ी के ऊपर सुकदेव वाटिका और महामाया का मंदिर है जहां प्रतिवर्ष हजारों भक्‍त आते हैं। एशिया का सबसे बड़ा हाइड्रो इलैक्ट्रिक प्रोजेक्‍ट सुंदरनगर का ही हिस्‍सा है। साथ ही यहाँ एक अत्यन्त मनोहर झील भी है। यहाँ का रात्री दृश्य बहुत ही सुन्दर होता है। शितला माता व कुमारी माता का मन्दिर भी दर्शनीय है। यहाँ स्नातकोत्तर संस्कृत महाविद्यालय भी है, जिसमें संस्कृत पढ़ने की उत्तम व्यवस्था है।
 
=== जंजैहली ===
मण्डी से 67 किमी.किलोमीटर दूर जंजैहली हाइकर्स का स्‍वर्ग कहलाता है। 32 किमी.किलोमीटर गाड़ी में आने के बाद गोहर से आगे का रास्‍ता पैदल तय करना पड़ता है। घने जंगलों के बीच स्थित बिजाही में रेस्‍ट हाउस की भी व्‍यवस्‍था। यहां आराम करके जंजैहली तक 20 किमी.किलोमीटर की चढ़ाई करनी पड़ती है।
 
=== अर्द्धनारीश्‍वर मंदिर ===
 
=== बरोट ===
बरोट एक शानदार पिकनिक स्‍थल के रूप में लोकप्रिय है। मंडी से 65 किमी.किलोमीटर दूर मंडी-पठानकोट हाइवे पर यह स्थित है। यहां का रोपवे और फिशिंग की सुविधाएं पर्यटकों को काफी आकर्षिक करती हैं।
 
=== शिकारी देवी मंदिर ===
 
=== पराशर ===
पराशर झील मण्डी से 40 किमी.किलोमीटर दूर उत्‍तर दिशा में स्थित है। इसकी लोकप्रियता का कारण यहां बना एक तिमंजिला मंदिर है। पैगोड़ा शैली में बना यह मंदिर संत पराशर को समर्पित है।
 
== आवागमन ==
;वायु मार्ग
हिमाचल प्रदेश का [[भुंतर हवाई अड्डा]] मंडी का निकटतम हवाई अड्डा है। मंडी से इस हवाई अड्डे की दूरी लगभग 63 किमी.है।किलोमीटरहै।
 
;रेल मार्ग